जिला सहकारी बैंक में गबन घोटाले के आरोपी सेवा से निष्कासित

देवास 05 मार्च 2018/ जिला सहकारी बैंक देवास से संबंधित प्राथमिक कृषि सहकारी संस्थाओं तथा बैंक की शाखाओं में कार्यरत अधिकारियों एवं कर्मचारियों पर जिला स्तर से मॉनिटरिंग में यह पाया गया कि कतिपय कर्मचारी गबन घोटालों में तथा आर्थिक अनियमितताओं में लिप्त हैं। ऐसा ही एक मामला जिला सहकारी बैंक की शाखा उदयनगर का प्रकाश में आया था, जिसमें तत्कालीन शाखा प्रबंधक ध्यान सिंह मौर्य द्वारा चेक में ओवर राइटिंग कर 1000000 रुपए का गबन किया गया था। कलेक्टर श्री आशीष सिंह की अध्यक्षता में स्टाफ कमेटी की बैठक में ऐसे गबन के आरोपी को जांच में दोषी पाए जाने पर सेवा से निष्कासित करने का निर्णय लिया गया। ज्ञात हो कि श्री ध्यान सिंह मौर्य के विरुद्ध थाना उदय नगर में प्राथमिक सूचना रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी। अपराधिक धाराओं के अंतर्गत प्रकरण जिला न्यायालय में प्रस्तुत कर दिया गया है तथा राशि की वसूली हेतु उनको देय समस्त स्वत्व जमा राशियों को बैंक ने अटैच कर लिया है। इसी प्रकार एक दूसरा प्रकरण मंडी प्रांगण शाखा देवास का था, जिसमें श्री जुल्फिकार अली लिपिक द्वारा केस में हेराफेरी की गई थी। केस की आकस्मिक चेकिंग में पाया गया श्री जुल्फिकार अली ने 35570 रुपए नगदी में हेराफेरी कर गबन किया था। गबन घोटाले के ऐसे आरोपियों को सेवा से बर्खास्त करने का निर्णय लिया गया। कलेक्टर आशीष सिंह ने बताया कि जिला सहकारी बैंक की समस्त शाखाओं तथा समितियों में निगरानी तंत्र को और मजबूत बनाया गया है तथा ऐसे समस्त दोषियों के विरुद्ध कठोर दंडात्मक कार्यवाही की जाएगी।

error: Alert: मेहनत करें कॉपी नहीं