उमेश गौड़ के खिलाफ की गई रासुका की कार्रवाई निरस्त करने की मांग, रैली निकाल कर जनसुनवाई में दिया ज्ञापन

देवास। पिछले दिनों फिल्म पद्मावत के विरोध प्रदर्शन के दौरान राजपूत करणी सेना के प्रदेश उपाध्यक्ष उमेशप्रतापसिंह गौड़ पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) के तहत की गई कार्रवाई को  निरस्त करने की मांग को लेकर सैकड़ों लोग भोपाल चौराहा पर एकत्रित हुए और नारेबाजी करते हुए नाहर दरवाजा, नयापुरा, सुपर मार्केट, जनता बैंक, सुभाष चौक, नावेल्टी चौराहा होते हुए मल्हार स्मृति मंदिर पहुंचे।

रैली को संबोधित करते हुए सज्जनसिंह वर्मा ने कहा प्रशासन द्वारा पक्षपातपूर्ण कार्रवाई की गई है। उमेश गौड़ छात्रनेता, मजदूर नेता व जनता का चुना हुआ जनप्रतिनिधि रहा है। उस पर ऐसी कार्रवाई प्रशासन पर से विश्वास उठाने वाली है। हम इस कार्रवाई को न्यायालय में चुनौती देंगे।

जनसुनवाई में राज्यपाल के नाम ज्ञापन कलेक्टर आशीष सिंह को ज्ञापन दिया गया। ज्ञापन का वाचन करते हुए मनीष चौधरी ने कहा जिन आपराधिक प्रकरणों को आधार बनाकर रासुका का आदेश पारित किया है, उन सभी प्रकरणों में गौड़ को न्यायालय द्वारा दोषमुक्त किया गया है। इस संदर्भ में पूर्व में पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन के माध्यम से सूचित किया गया है। उपरोक्त आदेश विधि विरुद्ध होकर देश के नागरिक के मौलिक अधिकारों का हनन है। ज्ञापन के माध्यम से अनुरोध है कि नागरिकों के मौलिक अधिकारों को संदर्भित करें एवं उमेशप्रताप सिंह गौड़ के विरुद्ध पारित रासुका की कार्रवाई निरस्त करें।

राज्यपाल के नाम कलेक्टर को दिया ज्ञापन

रैली में राजेंद्रसिंह बघेल, भारतसिंह पटलावदा, फूलसिंह चावड़ा, मनोज राजानी, जयसिंह ठाकुर, भगवानसिंह चावड़ा, रेखा वर्मा, शौकत हुसैन, जयप्रकाश शास्त्री, अजीत भल्ला, राजेंद्र शुक्ला, धर्मेंद्रसिंह बैस, जुगनू गोस्वामी, मनोज चौधरी, शबाना सुहैल, हरीश देवलिया, सूरजसिंह गौड़, रवींद्रसिंह राठौड़, हिम्मतसिंह चावड़ा, दीपेश कानूनगो, दिग्विजयसिंह झाला, जितेंद्रसिंह मोंटू, रमेश व्यास, प्रदीप चौधरी, विक्रम पटेल, बाबू यादव, देवेंद्र बारोड़, तूफानसिंह बांगर, रामबाबू सहित सैकड़ों लोग शामिल थे। आभार सुरेंद्रसिंह गौड़ ने माना। यह जानकारी जितेंद्रसिंह गौड़ ने दी।

error: Alert: मेहनत करें कॉपी नहीं