दो हज़ार रुपए की मासिक रिश्वत चाहता था कृषि अधिकारी, कोर्ट ने दी 4 साल की जेल

व्यापारी द्वारा लोकायुक्त पुलिस उज्जैन को शिकायत करने के बाद 3 जनवरी 2016 को गिरफ्तार किया था

देवास। कृषि विभाग के एसडीओ रैंक के अधिकारी मेहरबान सिंह ठाकुर को विशेष न्यायालय द्वारा भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत 4 वर्ष का कारावास व 40 हजार रु. जुर्माना किया है। मेहरबान सिंह कन्नौद के एक खाद विक्रेता को धमका कर दो हज़ार रुपए हर महीने रिश्वत मांग रहे थे। जिस पर ट्रैप प्लान कर लोकायुक्त पुलिस ने उन्हें रंगे हाथों गिरफ्तार किया था। प्रकरण में लोकायुक्त पुलिस की ओर से पैरवी उप संचालक अभियोजन अजयसिंह भंवर ने की।

क्या था मामला
कन्नौद में पदस्त कृषि अधिकारी मेहरबान सिंह ठाकुर ने 3 साल पहले दुकान पर खाद बेचने वाले व्यापारी से प्रतिमाह 2 हजार की रिश्वत की मांग की थी और नहीं देने पर केस बनाने की धमकी दी थी। इसके बाद व्यापारी जगदीश भूतड़ा कन्नौद ने लोकायुक्त पुलिस उज्जैन से शिकायत कर आरोपी अधिकारी को रंगे हाथ गिरफ्तार कराया था। सांई ट्रेडर्स के नाम से कन्नौद बस स्टैंड पर व्यापारी जगदीश की दुकान है, जिसमें वह खेरची खाद बेचता है। दुकान पर आरोपी एसडीओ मेहरबानसिंह आए और कहा कि यदि तुम खेरची खाद बेचोगे तो केस बना दूंगा। तुम मुझे महीने की बंदी 2 हजार रुपए दोगे तो ही तुम खेरची खाद बेच सकते हो। इसके बाद फरियादी ने आवेदन पत्र लोकायुक्त उज्जैन कार्यालय में दिया गया।
निरीक्षक बसंत श्रीवास्तव द्वारा ट्रैप दल की कार्यवाही कर एवं लोकायुक्त टीम द्वारा 3 जनवरी 2016 को 2 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए आरोपी को गिरफ्तार किया। शंका होने पर आरोपी ने 2 हजार अपने हाथ से जमीन पर फेंक दिए थे, जिसे लोकायुक्त टीम ने जब्त कर लिए। लोकायुक्त ने फरवरी 2017 को चालान पेश किया और मामले में सोमवार को आरोपी मेहरबानसिंह को विशेष न्यायालय द्वारा भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत 4 वर्ष का कारावास व 40 हजार रु. जुर्माना किया।

office sale