विडियो: किन्नरों का वैभव देवासवालों ने पहली बार देखा, देखें शोभायात्रा में जलवे

अखिल भारतीय किन्नर महासम्मेलन के तहत शहर में किन्नरों ने निकाली शोभायात्रा

देवास। ट्रांसजेंडर यानि किन्नर समुदाय का संस्कृतिक वैभव सदियों से रहा है। जेवर, भारी कपडे और मेकअप के शौक़ीन किन्नरों को देवासवासियों ने बरसों बाद नज़दीक से देखा है। करीब 40 साल पहले किन्नर सम्मलेन देवास में हुआ था और अभी यह विकास नगर के पास 15 जनवरी तक जारी है।

किन्नर समुदाय ने शुक्रवार को कलश और शोभायात्रा शहर में निकाली। आम जनता किन्नरों को देखने के लिए मानो टूट पड़ी। दोपहर में सयाजी द्वार पर पूजन कर कलश यात्रा प्रारंभ हुई जिसमे शहरवासियों ने पहली बार किन्नर समुदाय का वैभव देखा। पुलिस और निजी बॉडी गार्ड उनकी सुरक्षा के लिए लगे हुए थे। युवा किन्नर जहाँ नाच गा कर लोगों को अपनी संस्कृति का परिचय करवा रहे थे वहीँ वरिष्ठ किन्नर व्यवस्थाओं को सुचारू करने में लगे थे। इस सम्मलेन में किन्नरों के 6 महामंडलेश्वर समिल्लित हुए थे।

जुलुस के दौरान सजे धजे रथ और वेन्टेज कारों में वरिष्ठजन बैठ कर शोभा यात्रा में शामिल हुए। कई स्थानों पर जुलुस के सवागत के लिए मंच बनाये गए थे। कुछ स्थानों पर गुड से भी उन्हें तौला गया।

विडियो में देखिए किन्नरों का वैभव

office sale