विडियो: शहर में लगातार काटे जा रहे हैं बिना इजाजत हरे पेड़, पर्यावरण मंत्री के शहर में दिया ये कैसी लापरवाही

वार्ड 24 मिश्रीलाल नगर में पार्षद ने बिना इजाजत कटवा दिए हरे पेड़, प्राइवेट आरा मशीन संचालक काट कर ले गया

देवास। जिस जिले से प्रदेश को पर्यावरण मंत्री सज्जन सिंह वर्मा मिले उन्ही के देवास शहर में दिया तले अँधेरा है। शहर में लगातार बिना इजाजत लिए कोई भी हरे भरे पेड़ काट देता है और प्रशासन कुम्भकरणी नींद सोता रहता है या कह दें मूक बना रहता है। अब तक कई मामले होने के बाद भी प्रशासन ने कोई प्रतिबंधात्मक कार्यवाही नहीं की है। यही हाल रहे तो देवास में पर्यावरण संरक्षण धरा का धरा रह जायेगा।

मिश्रीलाल नगर में पार्षद ने कटवा दिए पेड़

वार्ड क्रमांक 24 में नगर निगम के बगीचे में लगे नीम और पीपल के बड़े पेड़ों को वहां के वार्ड पार्षद ने बिना इजाजत कटवा दिए। बकौल पार्षद धर्मेन्द्र पाचुनकर ये पेड़ कमजोर थे और लोगों की जान के लिए खतरा थे। हालाकिं मौके पर पेड़ स्वस्थ नज़र आये। पार्षद ने इसके लिए नगर निगम से इजाजत लेना भी जरूरी नहीं समझा। जबकि एक पेड़ काटने के बदले पांच पेड़ लगाने का नियम है। प्रभारी निगमायुक्त कैलाश चौधरी अब कार्यवाही की बात कह रहे हैं। लेकिन पार्षद के मामले में लिप्त होने की वजह से कार्यवाही होने पर संदेह जताया जा रहा है।

औधोगिक क्षेत्र में काटे गए सैकड़ों पेड़

पिछले दिनों टाटा कंपनी द्वारा छोड़ी गई लीज की जमीन पर लगे सैकड़ों पेड़ काट दिए गए। मीडिया ने प्रशासन को चेताया और मौका मुयाना भी करवाया लेकिन अब तक प्रशासन ने कोई कार्यवाही नहीं की है। मामले में प्रशासन भी संदेह के घेरे में है।  ऐसे में अब देखने वाली बात होगी की पर्यावरण मंत्री सज्जन सिंह वर्मा खुद आगे आ कर पेड़ों की अंधाधुंध कटाई पर रोक लगा पायेंगे या नहीं।

office sale