नगर निगम की मेयर इन कौंसिल की बैठक में क्या क्या हुए फैसले, पढ़ें

देवास। नगर पालिक निगम देवास की मेयर इन काउंसिल की बैठक महापौर सुभाष शर्मा की अध्यक्षता मे संम्पन्न हुई बैेठक मे वित्तिय वर्ष 2019-20 के राजस्व आय रू. 1 अरब 7 करोड़ 74 लाख 26 हजार 255 रू एवं राजस्व व्यय 95 करोड़ 67 लाख 97 हजार 202 बजट को अनुशंषित कर परिषद की बैठक मे पारित होने हेतु प्रस्तुत किया जावेगा। बजट मे रू. 6 लाख 95 हजार की बचत  होकर पूंजीगत प्राप्तियां 3 अरब 65 करोड 4लाख 85 हजार 152 रू है। पूंजीगत व्यय 3 अरब 75 करोड 4 लाख 19 हजार 205 रू। बैठक के प्रारंभ में महापौर एवं उपस्थितों द्वारा कश्मीर के पुलवामा में आतंकवादी हमले में शहीद हुए जवानों को दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि अर्पित की गई।
बजट मे राजस्व आय रू. 1 अरब 7 करोड 74 लाख 26 हजार 255 रखी गई है, जो संपत्तिकर, जलकर, सामेकित कर, कालोनी विकास उपकर, शिक्षा उपकर, निगम संपत्तियो से किराया ओर शुल्क एवं उपभोक्ता प्रभार आदि से प्राप्त आय,। इसी प्रकार बजट मे निगम के प्रशासनिक व्यय हेतु 9 करोड 16 लाख 7 हजार 380 का प्रावधान किया गया है। बजट मे परिचालन एंव अनुरक्षण हेतु 23 करोड 91 लाख , पूंजीगत व्यय 3 अरब 65 करोड 4 लाख 85 हजार 157 का प्रावधान किया गया है। बजट मे अचल संपत्तियां मे निगम हित मे क्षिप्रा आवर्धन योजना अन्र्तगत (युआईडी एसएसएमटी योजानान्र्तगत) किसानो को भूमि मुआवजा 1 करोड 30 लाख का प्रावधान किया गया है। भवन, भवन अग्निशमन केन्द्र, पार्को का निर्माण, चौराहो एवं तिराहो को विकसित करना तथा अन्य संरचनाओ के लिये रू. 63 करोड 27 लाख 95 हजार, घर-घर शौचालय निर्माण मे 1 करोड 15 लाख , नगर निगम के व्यवसायिक परिसर निर्माण के लिये 6 करोड, सामुदायिक एवं सहव्यवसायिक भवन, मोती बंगला, पालनगर, जवाहर नगर एवं उज्जैन रोड निर्माण कार्यो के लिये 7 करोड, ठोस अपषिष्ठ प्रबंधन के लिये कलस्टर योजना के लिये  8 करोड राशि, युआईडी एसएसएमटी योजनान्र्तगत शहर मे सीवरेज प्रोजेक्ट के लिये 1 अरब 9 करोड 38 लाख 16 हजार 80 का प्रावधान बजट मे रखा गया है। निकाय अंश सहित सीएम इंफ्रास्ट्रक्चर योजना अंतर्गत द्वितीय चरण में सर्विस रोड एवं विभिन्न कार्यो के निर्माण के लिए राशि 7 करोड का प्रावधान बजट में रखा गया । अन्य पूंजीगत निर्माण कार्यो के लिये निकाय को सांसद निधी, विधायक निधी एवं जनभागीदारी से राशि 3 करोड 25 लाख से होने वाले व्यय का प्रावधान उपरोक्त मे सम्मिलित है।
  सार्वजनिक प्रकाश हेतु 3 करोड 96 लाख का प्रावधान किया गया है। नवीन वाहनो हेतु 2 करोड 68 लाख, स्वच्छ भारत मिशन अन्र्तगत डम्पर, प्लेसर, फ ॉगिग मशीन, आदि क्रय हेतु 30 लाख का प्रावधान किया गया है। महापुरूषों की प्रतिमा स्थापित करने के लिए राशि 40 लाख रूपये का प्रावधान किया गया है। राष्ट्रीय शहरी आजीविका, म.प्र. भवन एवं अन्य संनिर्माण कर्मकार मंडल, शहरी विकास अभिकरण, दीनदयाल अन्त्योदय योजना एवं विधायक  निधी व सांसद स्वेच्छानुदान मे 10 करोड 43 लाख का प्रावधान किया गया है। एवं मुख्य मंत्री युवा स्वाभिमान योजना के अंतर्गत 8 करोड़ रू का प्रवधान किया गया है।
  राजीव आवास योजनान्र्तगत 26 करोड , आयएचएसडीपी योजनान्र्तगत 3 करोड 50 , म.प्र. शासन की मुख्यमंत्री कन्यादान योजना अन्र्तगत विवाह हेतु 20 लाख, प्रधानमंत्री आवास योजना के अन्र्तगत हितग्राहीयो को योजनान्र्तगत आवास निर्माण कार्य के लिये शहर मे गरीब बस्तियो मे भवन निर्माण हेतु 47 करोड 23 लाख 95 हजार, पार्षदो द्वारा अनुशंसित कार्यो हेतु 13 करोड 50 लाख, निगम की प्रस्तावित आय।
  बैठक मे राजस्व विभाग द्वारा संपत्तिकर की दरो मे वृद्धि नहीं की गई है
  महापौर ने बैठक मे निगम के 2019-20 के दृष्टि पत्र में अमृत योजना अंतर्गत जल नालों का निर्माण , जल प्रदाय तृतीय चरण कार्य , मीठा तालाब, मंडुक पुष्कर, मेंढ़की तालाब एवं कालूखेडी तालाब पर विकास एवं अन्य गतिविधि कार्यो को प्रारंभ करना। मुख्यमंत्री शहरी अधोसंरचना विकास, द्वितीय चरण योजना अंतर्गत एबी रोड के दोनों ओर निर्माणाधीन सर्विस रोड, सायकल ट्रेक, नाला निर्माण आदि कार्य संचालित है। यूआईडीएसएसएमटी योजना अंतर्गत देवास शहर की सिवरेज योजना अंतर्गत संपूर्ण कार्य पूर्ण कर जनता को लाभ पहुंचाना। निकाय द्वारा वर्तमान में 20 वार्डो में प्रतिदिन पानी सप्लाय किया जा रहा है। इस प्रकार क्षिप्रा से शीघ्र ही 22 एमएलडी प्रतिदिन पानी प्रदाय किया जाना है ताकि बाकी बचे 25 वार्डो को पानी की सुविधा दी जा सके। कुछ ही समय में सनसिटी टंकी, शंख द्वार टंकी, उत्तम नगर की टंकी, रानी बाग की टंकी, पठान कुआ की टंकी एवं माताजी की टंकी से प्रतिदिन पानी प्रदाय कर कार्य प्रारंभ किया जाएगा। वर्तमान तक अवैध से वैध कनेक्शन किए गए है। वर्तमान में भी कार्यवाही प्रचलित है जिससे निगम में अतिरिक्त राजस्व आय प्राप्ति होगी। इस वर्ष जलकर से बकाया राशि 80 प्रतिशत प्राप्त की जा चुकी है। वर्तमान में वसूली की कार्यवाही कार्यरत है ताकि राजस्व आय में बढ़ोतरी की जा सके।
अमृत योजना अंतर्गत मल्हार स्मृति उद्यान, मयूर पार्क, कुश्ती एरिना में प्रस्तावित विकास कार्य संचालित हैं जो इसी वर्ष में पूर्ण किए जाएंगे। शहर में दो हाकर्स झोन का निर्माण कार्य किया जाएगा। मुक्तिधाम में सीएनजी संचालित शवदाह गृह का निर्माण, इंडस्ट्रियल एरिया में फायर स्टेशन की मरम्मत एवं अन्य सुविधा, बायपास रोड, राजोदा जेल के पीछे बस टर्मिनल का निर्माण, यमुना नगर में इंदौर उपनगरीय बस स्टेशन का निर्माण, विकास नगर मेन रोड पर टू लेन निर्माण का कार्य प्रारंभ किया जा चुका है। एबी रोड के प्रमुख चौराहों का सौंदर्र्यीकरण, चौड़ीकरण एवं ट्राफिक सिग्नल प्रारंभ किए जाएंगे। मीठा तालाब, कालूखेडी तालाब, बामनखेडा तालाबों का गहरीकरण एवं सौंदर्यीकरण, मण्डुक पुष्कर तालाब का शुभारंभ एवं बोटिंग का कार्य प्रारंभ किया जाना है। शहर की कुल 92 कालोनियों को अवैध से वेध किया जाकर जनता के सहयोग से विकास कार्य किए जाएंगे। दस डिलक्स जनसुविधा केन्द्र एवं 10 नवीन सामुदायिक शौचालयों का निर्माण विभिन्न स्थानों पर किया जाएगा। शहर के प्रमुख मार्गो पर इंट्री गेट का निर्माण किया जाएगा। दो नवीन मुक्तिधामों का निर्माण, बिलावली एवं अर्जुन नगर आड़ा काकड पर संपूर्ण सुविधा उपलब्ध कराना। राष्ट्रीय महापुरूषों की प्रतिमा पं. कुमार गंधर्व,पं. अटल बिहारी वाजपेयी, पं. दीनदयाल उपाध्याय, प्रकाशचंद्र सेठी, सरदार वल्लभ भाई पटेल की प्रतिमा स्थापना।  शहर की प्रमुख नौ जगहों पर नवीन सामुदायिक एवं वाणिज्यिक भवनों का निर्माण।
बैठक में निगम आयुक्त नरेन्द्र सूर्यवंशी , मेयर इन काउंसिल सदस्य अर्जुन चौधरी, संजय दायमा, यशवंत हरोडे, ममता शर्मा, पूर्णिमा राजीव खंडेलवाल, बाबू यादव, सीमा मिलिंद सोलंकी, कृष्णा रामेश्वर दायमा, सोनू मुकेश सांगते, निगम कार्यपालन यंत्री कैलाश चौधरी, प्रभारी कार्यपालन यंत्री इंदु प्रभा भारती, स्वास्थ्य अधिकारी  डी सी गर्ग, लेखा अधिकारी दिलीप गर्ग, राजस्व अधिकारी प्रवीण पाठक, सहायक यंत्री मो. हनीफ शेख, मुशाहिद हन्फी, दिनेश चौहान, शाहिद अली, प्रभारी कार्यालय अधीक्षक राजकुमारी शर्मा आदि उपस्थित रहे।
office sale