देवास: पीएम आवास योजना में हितग्राही किसी को पैसें न दें- महापौर

कोई व्यक्ति किसी से राशि लेते हुए पाया जाता है तो उसके विरूद्ध पुलिस प्राथमिकी दर्ज करवाएंगे

देवास। देवास में पिछले दिनों प्रधानमंत्री आवास योजना के हितग्राहियों से 10 से 15 हज़ार रुपए लेने का मामला सामने आया था। देवास लाइव ने भी इस मामले में के खुलासा किया था जिसमे सर्वे कंपनी के एक कर्मचारी द्वारा योजना का लाभ दिलाने के बदले में रिश्वत मांगी जा रही थी। एक ऑडियो क्लिप भी वायरल हुआ था।

अब इस मामले में नगर निगम सख्त हुआ है। महापौर ने कहा है की प्रधानमंत्री आवास योजना अंतर्गत हितग्राही किसी दलाल व्यक्ति या किसी संस्था के अधिकारी, कर्मचारी को कोई राशि नहीं दें। अगर कोई व्यक्ति किसी से राशि लेते हुए पाया जाता है तो उसके विरूद्ध पुलिस प्राथमिकी दर्ज करवाएंगे।

प्रधानमंत्री आवास योजना के क्रियान्वयन की समीक्षा बैठक में दिए गए। बैठक में निगम आयुक्त नरेन्द्र कुमार सूर्यवंशी, अपर आयुक्त आर.पी. श्रीवास्तव, कार्यपालन यंत्री कैलाश चौधरी, संपदा शाखा सहायक यंत्री इंदु प्रभा भारती, उपयंत्री सौरभ त्रिपाठी, जितेन्द्र सिसोदिया, विजय जाधव, सर्वे टीम के अशोक दुबे, सर्वजीतसिंह, विश्वजीतसिंह, सुरेन्द्र गोडमोरे, शुभम उपाध्याय, निलेश सिंह आदि उपस्थित रहे।

बैठक में महापौर ने कहा कि पूर्व में जो 1800 फार्म का सर्वे हुआ था। उसका सर्वे पुन: कराया जावेगा। हितग्राही वास्तविक रूप से निवास करता नहीं पाया जाता है तो उस पर योजना के अंतर्गत नियमों का उल्लंघन करने की कार्यवाही प्रस्तावित की जावेगी। बैठक में महापौर ने बताया कि प्रधानमंत्री आवास योजना में हितग्राहियों को नियमानुसार भवन निर्मित कर आवंटित किये जावेंगे।

office sale