आचार सहिंता के बहाने थमी किसानों की कर्जमाफ़ी, सोशल मीडिया पर ट्रोल हो रही कांग्रेस सरकार

देवास। लगता है कमलनाथ सरकार को आचार सहिंता लगने और उसके बहाने कर्जमाफ़ी को टालने का बेसब्री से इंतजार था। आचार सहिंता लगने के 4 घंटे पहले से ही किसानों के मोबाइल पर एसएमएस आने लगे की आचार सहिंता की वजह से अब कर्ज माफ़ी के आवेदन चुनाव के बाद स्वीकृत होंगे।

जय किसान फसल ऋण माफ़ी योजना में आपका आवेदन मिला है| लोकसभा चुनाव आचार सहिंता के कारण आपकी ऋण माफ़ी अभी स्वीकृत नहीं हो पाई है| चुनाव के बाद शीघ्र स्वीकृति की जावेगी| शुभकामनाएं, आपका कमल नाथ (मुख्यमंत्री)

SMS मिलने के बाद कमलनाथ सरकार सोशल मीडिया पर ट्रोल होने लगी। बीजेपी को भी हमला करने का मौका मिल गया। सोशल मीडिया पर मेसेज के स्क्रीनशॉट वायरल होने लगे और कांग्रेस सरकार की कर्जमाफी के प्रति गंभीरता पर प्रश्न होने लगे। हालाँकि पहले से यह अंदाजा लगाया जा रहा था की कमलनाथ खाली खजाने से किसानों की कैसे कर्ज माफ़ी कर पाएंगे। प्रक्रिया को जटिल कर इस काम को लम्बे समय तक खीचने की कोशिश की जाएगी और वही हुआ। उतावलेपन में कई किसानों को मेसेज आचार सहिंता लगने के पहले ही कर दिए गए जैसे सरकार इसके लिए तैयार बैठी थी। अब कांग्रेस की कर्जमाफी पर आम किसान भी अपने आपको ठगा महसूस कर रहा है और सरकार को कोस रहा है।

सोशल मीडिया पर ट्रोल हो रही सरकार 

office sale