पंजाब नेशनल बैंक देवास को लगाया पौने पांच करोड़ का चूना, EOW ने दर्ज किया मामला

देवास की फर्म सौभाग्य सीड्स एंड एग्रीटेक देवास के मालिक नागेन्द्र सिंह खिंची व एलटीसी कंपनी के कर्मचारी विनोद आर्य ने की बैंक से ठगी

देवास। पंजाब नेशनल बैंक से देवास की एक फर्म फर्म सौभाग्य सीड्स एंड एग्रीटेक देवास के मालिक नागेन्द्र सिंह खिंची व एलटीसी कंपनी के कर्मचारी विनोद आर्य ने पौने पांच करोड़ रूपये की ठगी कर दी। अब बैंक मेनेजर की शिकायत पर आर्थिक अपराध इकाई उज्जैन (EOW) ने प्रकरण दर्ज किया है और आरोपियों की तलाश की जा रही है। उल्लेखनीय है की इसी पंजाब नेशनल बैंक को भगोड़ा नीरव मोदी 11 हज़ार करोड़ रूपए का चूना लगा कर विदेश में एश कर रहा है।
EOW उज्जैन के पुलिस अधीक्षक राजेश रघुवंशी ने बताया की देवास की पंजाब नेशनल बैंक स्टेशन रोड शाखा के प्रबंधक ने शिकायत की थी कि ग्राम टोंककलां देवास निवासी नगेंद्रसिंह खींची सौभाग्य सीड्स एंड एग्रीटेक का मालिक है। उसका वेयर हाउस भी है। नगेंद्र ने एलटीसी कंपनी जयपुर के प्रतिनिधि विनोद आर्य से सांठगांठ कर अपने वेयर हाउस में कृषि उपज रखे होने के फर्जी दस्तावेज तैयार कर बैंक में पेश किए। इन दस्तावेजों के आधार पर नगेंद्रसिंह ने 4.75 करोड़ रुपए का लोन ले लिया। जांच में पता चला कि दस्तावेज फर्जी हैं। इस पर ईओडब्ल्यू की उज्जैन इकाई को शिकायत की थी। जांच में धोखाधड़ी सामने आई। इस पर दोनों के खिलाफ धारा 409, 467, 468, 471, 420, 120 के तहत केस दर्ज किया गया है।

बैंक का जयपुर की एलटीसी कंपनी से अनुबंध है। इसके तहत वेयर हाउस व कृषि से जुड़े लोन के लिए दस्तावेजों की जांच एलटीसी कंपनी करती है। कंपनी के प्रतिनिधि जांच के बाद प्रमाण पत्र देते हैं। इसके आधार पर ही बैंक लोन स्वीकृत करती है।

office sale