विडियो: खातेगांव के बहुचर्चित शास्त्री हत्याकांड के पांच आरोपी गिरफ्तार, देखें प्रेस कांफ्रेंस

अन्तराज्यीय बावरिया गैंग के सदस्यो ने दी थी वारदात को अंजाम, देवास एसपी ऑफिस में किया खातेगांव पुलिस ने खुलासा

देवास। खातेगांव थाना क्षेत्र में दो माह पहले हुई 80 वर्षीय पंडित रमाशंकर पिता शिवराम जोशी (शास्त्री) की हत्या के पांच आरोपियों को देवास पुलिस ने गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है। यह हत्याकांड पुलिस के लिए चेलेंज बना गया था। हत्या खतरनाक बावरिया गैंग के अपराधियों ने लूट के इरादे से की थी। आरोपियों ने गुब्बारे बेचने के बहाने की थी मृतक शास्त्री के घर रेकी की थी उसके बाद गैंग को बुला कर वारदात को अंजाम दिया था। पुलिस ने पॉच आरोपी और लुटे गए 30 हज़ार रूपये और गहने बरामद कर लिए है। लुटे गए मश्रुका की कीमत पुलिस के अनुसार 65 हज़ार रूपये है। हालाकिं चर्चा है की लुटेरे लाखों रुपए ले गए हैं।

उल्लेखनीय है की खातेगांव में 5 और 6 जनवरी 2019 की दरमियानी रात्री मे राष्ट्रीय राजमार्ग पर कन्नौद रोड़ पर स्थित पंडित रमाशंकर पिता शिवराम जोशी उम्र 80 साल नि. खातेगॉव की उनके मकान मे अज्ञात आरोपीयो के द्वारा घुस कर सिर मे प्राणघातक चोट पहुचाकर हाथ पैर बांध कर कु्ररता पूर्वक बेरहमी से हत्या सहित लूट की थी। जिससे क्षैत्र मे सनसनी फैल गई थी। ज्योतिषाचार्य बलराम शास्त्री (बच्चा महाराज) के 80 वर्षीय पिता रमा शंकर जोशी (शास्त्री) खातेगांव में अपने घर में अकेले थे तभी रात में अज्ञात आरोपियों ने उनकी हत्या कर दी और घर का सारा समान फैला दिया था। सुबह जब उनकी पोती उन्हें चाय देने गई तो दादा के हाथ पैर बंधे और खून में लथपथ देख घर वालों को सूचना दी। जब परिजन मौके पर पहुचे तब तक उनकी मौत हो चुकी थी। मामले में पुलिस ने जांच शुरू की लेकिन दो माह तक कोई सुराग नहीं लगा।

8 फरवरी 2019 को थाना मुराद नगर जिला गाजियाबाद उ.प्र. पुलिस द्वारा जरिये टेलीफोन से सूचना दी कि थाना मुराद नगर मे गिरफ्तार शुदा आरोपी वचन उर्फ बड़ा पिता बारु शेख मुसलमान उम्र 50 साल नि. किशनगढ़ दिल्ली ने गाजियाबाद मे कारित की गई घटना के साथ थाना खातेगॉव में 5/06.01.19 की दरम्यानी रात मे अपने साथियो साथ मिलकर घटना करना स्वीकार किया है। देवास पुलिस ने तुरंत उत्तर प्रदेश पहुँच कर आरोपियों की गिफ्तारी की।  हत्याकांड में आरोपी बच्चन उर्फ बड़ा पिता बारू शेख मुसलमान उम्र 50 वर्ष निवासी किशनगढ़ मेट्रो स्टेशन दिल्ली, साथ ही उसके अन्य साथी,नोशाद पिता इरसाद नि. ग्राम सेदपुरा थाना गंगोह जिला सहारनपुर उ.प्र., तोहीद उर्फ गोपाला उर्फ नाजिम पिता जुल्फान उर्फ साजिद उर्फ फेंडा . नि. ग्राम सेदपुरा थाना गंगोह जिला सहारनपुर उ.प्र.,फेजल उर्फ चाहत उर्फ पाले खॉ पिता एहसान नि. ग्राम आलमपुर थाना गंगोह जिला सहारनपुर उ. प्र. एवं ताहीर उर्फ लाड़ला पिता एहसान नि.ग्राम आलमपुर थाना गंगोह जिला सहारनपुर के साथ मिलकर घटना करना स्वीकार किया है।

कौन है बाबरिया और कैसे करते हैं वारदात

हाई प्रोफाइल शास्त्री लूट का हत्याकांड में गिरफ्तार आरोपीगण अंतर्राज्यीय बाबरिया गेंग से ताल्लुक रखते है। इन लोगों का मुख्य काम लूटपाट की वारदात को अंजाम देना है। यह लोग ग्रुप बनाकर लूटपाट करते हैं! यह जिस जगह वारदात करते हैं वहां पर भीख मांग कर या सामान बेचने के बहाने रेकी करते हैं। इसके बाद वारदात को अंजाम देते हैं। यह वारदात को बड़े हैवानियत से अंजाम देते हैं।  मारपीट कर लोगों को मौत के घाट उतार देते हैं। यह गिरोह जब भी लूट को अंजाम देते हैं तो सिर्फ नकदी और गहने ही लूटता है।  बाकी किसी भी चीज को हाथ नहीं लगाता गिरोह के सदस्य जो बिहार, उ0प्र0, हरियाणा, पंजाब, म0प्र0 मे सामान बेचने के दौरान घरो की रैकी कर घटना को अंजाम देते है। आरोपीगण एवं उनके साथीदारानो पर अनेक राज्यो मे दर्जनो अपराध पंजीबद्ध है।

टीम को मिलेगा इनाम

खातेगांव के हाईप्रोफाइल शास्त्री लूट एवम हत्याकांड के आरोपी गणों को पकड़ने के लिए देवास जिला पुलिस अधीक्षक चंद्रशेखर सोलंकी के मार्गदर्शन मेअतिरिक्त पुलिस अधीक्षक डा. नीरज चौरसिया के निर्देषन मे एवं एसडीओपी निर्भय सिह अलावा के नैतृत्व मे थाना प्रभारी खातेगॉव सज्जन सिह मुकाती, थाना प्रभारी सतवास हरीष जेजुलकर, थाना प्रभारी कन्नौद अमित कुमार सोनी, क्राईम ब्रांच प्रभारी शिव कुमार रघुवंषी, उप निरीक्षक सोनल सिसोदिया, उप निरीक्षक आर. सी. बिल्लौरे, उप निरीक्षक अरविंद भदौरिया, सहायक उपनिरीक्षक बी. एल. कंसल, आरक्षक जितेन्द्र तोमर, आनन्द जाट, रविन्द्र तोमर, राहुल आर्य, रविराव, राहुल पटेल, सुनील प्रजापती, अरुण आर्य, ओम प्रकाश पाटीदार, सायबर एक्सपर्ट शिवप्रताप सेंगर, संतोष कुमार रावत, सैनिक मनीष बाथोले, की सराहनीय भूमिका रही है। बहुचर्चित लूट हत्याकांड का खुलासा करने के लिए गठित टीम की सराहनीय भूमिका एवं लूट व अंधे कत्ल का खुलासा करने वाली टीम को पुलिस महानिरीक्षक उज्जैन रेंज एवं पुलिस अधीक्षक देवास द्वारा उचित इनाम देने की घोषणा की गई है।

सम्बंधित खबर 

office sale