Live Video: सोनकच्छ टीआई ने छात्राओं को धमकाया, हंगामा किया तो दांत तोड़ कर बंद कर दूंगा

संयुक्त संचालक ने परीक्षा शुरू होने के 1 मिनट बाद बंद करवाया परीक्षा केंद्र का गेट, विद्यार्थियों ने किया हंगामा

  • एसडीएम, तहसीलदार, एसडीओपी, टीआई पहुंचे केंद्र, टीआई ने लड़कियों को दी धमकी हंगामा किया तो दांत तोड़ दूंगा
  • हंगामा बढ़ा, लोनिवि मंत्री ने किया हस्तक्षेप डेढ़ घण्टे बाद 43 विद्यार्थियों ने दी परीक्षा
देवास/सोनकच्छ। सोनकच्छ थाना प्रभारी पंकज द्विवेदी परीक्षा से वंचित की गईं छात्राओं को धमकी देंते नज़र आए की हंगामा किया तो दांत तोड़ कर बंद कर दूंगा। ये मध्यप्रदेश पुलिस का नया चेहरा देवास के सोनकच्छ में गुरुवार को देखने को मिला।
डाक बंगला स्थित पांचूबाई बिरमाजी जाट कन्या विद्यालय में गुरुवार सुबह 8 बजे संयुक्त संचालकसनजय गोयल पहुंच गए और आने वाले विद्यार्थियों की चेकिंग शुरू कर दी गयी। परीक्षा शुरू होने के 1 मिनट बाद केंद्र का मुख्य गेट बंद कर दिया गया। जिसके कारण 43 विद्यार्थी गेट के बाहर ही रहे। कई अधिकारियों से मिन्नत करने के बाद भी दरवाजा नही खोला गया। मामले लगातार बढ़ता गया।  विद्यार्थियों ने 5 मिनट के लिए रोड़ जाम कर दिया। जिसे उपस्थित वरिष्ठों ने समझाईश देकर खुलवाया। जिसके बाद उपस्थित लड़कियों ने दरवाजा ठोकना चालू कर दिया।  मामले से  लोनिवि मंत्री व क्षेत्रीय विधायक सज्जन वर्मा को घटना से अवगत कराया। उन्होंने केंद्र परिसर में उपस्थित अधिकारियों से फोन से चर्चा कर गेट खोलकर चर्चा करने का कहा। गेट खुलने के बाद सज्जन समर्थकों ने जेडी से चर्चा की, लेकिन वे मानने को तैयार नही हुए।
सज्जन ने लगातार फोन किए पर रिसीव नही किए जेडी ने
केंद्र के बाहर खड़े रहने की सूचना सज्जन वर्मा को जब मिली तो उन्होंने जेडी को लगातार फोन किए, लेकिन उन्होंने रिसीव नही किए। जिसके बाद वर्मा ने कार्यकर्ता से जेडी की बात कराने का कहा। जिस पर वर्मा ने जेडी को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि, सोनकच्छ की जनता इकठ्ठी हो जायेगी, लॉ एंड आर्डर की स्थिति निर्मित होगी। बच्चों का भविष्य क्यों खराब कर रहे हो। मारपीट होगी आप भी जबरन इसमें पीसा जाओगे। साथ ही कांग्रेस कार्यकर्ताओ को वर्मा ने कहा कि, कुछ भी हो जाएं बच्चों को परीक्षा दिलवाओ। जिसके बाद जेडी ने गेट खुलवाया और अपने गंतव्य की ओर रवाना हो गए। इधर मारपीट की आशंका को देखते हुए टीआई ने जेडी के वाहन के आगे पुलिस मोबाइल वाहन लगाकर थाना क्षेत्र से बाहर छुड़वाया।
टीआई ने बालिकाओं को दी धमकी
 मामला लगातार बढ़ता देख टीआई पंकज द्विवेदी केंद्र पहुंचे। जहां उन्होंने विरोध दर्ज करवा रहे विद्यार्थियों को जोर-जोर से चिल्लाकर हटाया। परीक्षा देने आयी लड़कियों से चर्चा के दौरान कहा कि, किसी ने अगर हंगामा किया तो दांत तोड़कर बंद करूंगा सबको, जिसे लेकर उपस्थित लोगों ने तीखी प्रतिक्रियाएं दी। कांग्रेस नेताओं ने टीआई से कहा कि, आप का रवैया ठीक नही था, बच्चियों से गलत ढंग से बात कर रहे थे।  इस पर टीआई बोलें कि, मैंने बच्चियों को नही कहा वो तो जो हुड़दंग कर रहे थे उनसे कह रहा था।
टीआई पंकज द्विवेदी का कहना है कि, बच्चों को कुछ वयस्क लोग चक्काजाम के लिए प्रेरित कर रहे थे। जिनके लिए उक्त शब्दों का प्रयोग किया गया था। बच्चों के साथ सहानुभूति है।

office sale