विडियो: अवैध ईमारत पर चला नगर निगम का बुलडोजर, देवास के इतिहास में पहली बार इस तरह की कार्यवाही

देवास। इंदौर, उज्जैन और देवास के कुछ बिल्डर मिल कर देवास में व्यवसायिक इमारत बना कर बेचने का धंधा कर रहे थे। नियमों को ताक पर रख कर लोगों से धोखाधडी की जा रही थी। नगर निगम के नक्शे के विपरीत तीन गुना तक अवैध निर्माण किया जा रहा था। पार्किंग तो दूर MOS के लिए एक इंच भी नहीं छोड़ा जा रहा था। नगर निगम ने आज प्रभावी कार्यवाही करते हुए इन बिल्डर्स पर लगाम लगाने का प्रयास किया है। लाखों रुपए लगा कर बनाई एक ईमारत तोड़ दी गई। (देखें विडियो)

कैलादेवी रोड पर यमुना नगर में बनी एक व्यवसायिक ईमारत को आज निगम की टीम ने अवैध हिस्सा धवस्त कर दिया। तीन शहरों के बिल्डर पार्टनर बन कर देवास में अवैध निर्माण का गोरख धंधा कर लोगों से धोखाधडी कर रहे थे। नक़्शे के विपरीत निर्माण कर वे दुकाने बेच रहे थे जो की अवैध थीं। नगर निगम ने 34 नम्बर प्लाट पर बनी ईमारत का अवैध हिस्सा तोड़ दिया। इसी रोड पर करीब 7 इस प्रकार के व्यवसायिक भवन बनाए गए हैं जिसमे न तो पार्किंग है और न ही MOS छोड़ा गया है। निर्माण परमिशन से तीन गुना ज्यादा निर्माण कर करोड़ों रुपए कमाए जा रहे थे और जो लोग दुकाने ले रहे थे वे ठगे जा रहे थे।

निगम आयुक्त नरेंद्र कुमार सूर्यवंशी ने कहा है की शहर में इस तरह के कई निर्माण है जिन पर कानूनी कार्यवाही की जाएँगी।

देखें विडियो न्यूज़

office sale