विडियो: टेकरी पर अव्यवस्थाओं पर एसडीएम ने किया दौरा, कर्मचारियों को निकालने की चेतावनी दी

देवास। मध्यप्रदेश में हिन्दू आस्था के लिए ख़ास स्थान रखने वाली माता टेकरी इन दिनों प्रशासनिक उदासीनता का दंश झेल रही है। उज्जैन में एक स्नान में लापरवाही पर पर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अधिकारीयों को नाप दिया था लेकिन देवास में नवरात्री में देशभर से आने वाले लोगों की आस्था का केंद्र माता टेकरी उजाड़ और वीरान करने वालों पर कोई कार्यवाही नहीं हो रही है। कल ही टेकरी की झाड़ियों में जब आग लगी तो पता चला की टेकरी पर पीने तक का पानी मौजूद नहीं था।

मीडिया में खबरें आने के बाद एसडीएम जीवन सिंह रजक ने आज सुबह टेकरी का दौरा किया और कर्मचारियों को चेतावनी दी। टेकरी का सञ्चालन देव स्थान प्रबंध समिति करती है जिसके अध्यक्ष कलेक्टर होते हैं। एसडीएम ने कमचारियों को हटा देने की चेतावनी तक दे डाली। अब देखना होगा की दो दिन बाद जब चैत की नवरात्री प्रारंभ होगी तब तपती गर्मी में व्यवस्थाओं के क्या हाल होंगे। बहराल देर से आये लेकिन दुरुस्त आये। टेकरी पर व्यवस्थाएं दुरुस्त होने की आस बंधी है।

पूर्व कलेक्टर आशुतोष अवस्थी के काम को लोगों ने याद किया

माता टेकरी पर तत्कालीन कलेक्टर आशुतोष अवस्थी के कामों को लोग आज भी याद करते हैं। उन्होंने टेकरी पर विशेष ध्यान दिया और उनके प्रयासों से टेकरी हरीभरी और व्य्वास्थित हो सकी। लेकिन उनके बाद आये प्रशासनिक अधिकारी टेकरी के प्रति उदासीन रहे जिसके कारण करोड़ों खच कर किये काम अब अव्यवस्थाओ की भेंट चढ़ गए हैं।

office sale