विडियो: सीमेंट की बोरियों पर सोने को मजबूर मरीज, एसडीएम के दौरे के अगले दिन भी नहीं बदली तस्वीर

एसडीएम अंकिता जैन ने बुधवार को टोंकखुर्द सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का औचक निरिक्षण किया था, तब बेड पर गद्दे दिखाए गए थे

देवास/टोंकखुर्द।(विजेन्द्रसिंह ठाकुर)। बुधवार को सोनकच्छ एसडीएम अंकिता जैन ने टोंकखुर्द स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का औचक निरिक्षण किया था। इस दौरान कई कमियां पाईं गई थी। आज सुबह जब केंद्र में मरीजों के एक पलंग में सीमेंट की बोरी से बनी पल्ली देखने को मिली। यही अधिकारी चाहे कितना दौरा कर लें हम नहीं सुधरेंगे। स्वास्थ्य के लिए सरकार करोड़ों रुपए खर्च करती है लेकिन फिर भी मरीज सीमेंट की बोरी पर लेटने को मजबूर है।

क्या कहा था एसडीएम ने अपने दौरे में

“कितनी गंदी चादर है शौचालय बदबू मार रहा है व पीने का पानी वाटर कूलर सूखे पड़े हैं। आखिर व्यवस्था विभाग की अनदेखी क्यों हो रही है। आप शासन को ठेंगा दिखाकर कार्य न करें आपकी नाइंसाफी होने के कारण मरीज परेशान हो रहे है”।  उक्त बात सोनकच्छ एसडीएम अंकिता जैन ने टोंकखुर्द के समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के निरीक्षण के दौरान कही वही बीएमओ डॉ महेश धाकड को हॉस्पिटल की समस्त व्यवस्था ठीक करने के लिए निर्देशित किया। वही हॉस्पिटल के सभी जरूरी रजिस्टर की सही प्रकार से कंप्लीट नही मिलेने पर खरी खोटी सुनाई व प्रत्येक दवाइयों की सप्लाई स्टोर कि नगवार सप्लाई रजिस्टर डेली डायरी से मिलान करवाया। रेबीज इंजेक्शन का पूछा तब स्टोर कीपर रमाशंकर ने कहा कि जिले में बीते महीनों से मांग की जा रही है मगर रेबीज के इंजेक्शन उपलब्ध नहीं हो पा रहे हैं।  बीएमओ से कहा कि आपका दवाखाना है या दिखावे का महल।  आवासीय रूम में वर्षों से जड़े ताले को लेकर  नाराजगी जताते हुए भवन अलाट रजिस्टर मांगा।  बीएमओ ने कहा जिले से होता है तब उन्होंने साफ शब्दों में कहा कि यहां कर्मचारियों को रहने के लिए तत्काल ताले खुलना चाहिए मैं जिले में भी इस आशय में अवगत करवाऊंगी।

SDM अंजलि जैन ने बुधवार को किया था औचक निरिक्षण
office sale