देवास शाजापुर लोकसभा से भाजपा प्रत्याशी घोषित, पूर्व न्यायाधीश महेंद्र सिंह सोलंकी को दिया टिकट

देवास। भाजपा ने आज देवास शाजापुर लोकसभा के लिए अपने प्रत्याशी की घोषणा कर दी। देवास जिले की देवास विधानसभा के आगरोद के पास नरखेड़ी के रहने वाले पूर्व न्यायाधीश महेंद्र सिंह सोलंकी को बीजेपी ने अपना उम्मीदवार घोषित किया है। सोलंकी मालवीय बलाई समाज से ताल्लुक रखते हैं और लंबे समय से उनकी राजनीति में आने की चर्चा चल रही थी।

जहां कांग्रेस ने लोकगीत गायक प्रह्लाद टीपानिया को अपना उम्मीदवार बनाया है वही बीजेपी ने पूर्व न्यायाधीश महेंद्र सिंह सोलंकी को अपना प्रत्याशी घोषित किया है इस प्रकार दोनों ही प्रमुख दलों के प्रत्याशी गैर राजनीतिक बैकग्राउंड से सीधे टिकट लेकर आए हैं।

कौन है महेंद्र सिंह सोलंकी

बीजेपी के देवास लोकसभा के प्रत्याशी महेंद्र सिंह सोलंकी भोपाल में अब तक न्यायाधीश थे उन्होंने इस्तीफा देकर बीजेपी से लोकसभा का टिकट लिया है। मूल रूप से देवास विधानसभा के उत्तर क्षेत्र के आगरोद के नज़दीक ग्राम नरखेडी के रहने वाले हैं और मालवीय बलाई समाज से आते हैं। सोलंकी का जन्म 11 अप्रैल 1984 में हुआ था उनके पिता का नाम रामसिंह सोलंकी और माता का नाम श्रीमती भारती सोलंकी है। महेंद्र सिंह ने बीए, एलएलबी ओनर्स तक पढाई की है और 2010 में वे सिविल जज के लिए चयनित हुए थे। इसके पहले 2009 लोक सेवा आयोग की लोक अभियोजक अधिकारी की परीक्षा भी वे पास कर चुके थे।

राजनितिक कैरियर 

महेंद्र सिंह सोलंकी ने सिविल जज बनने के पहले तक बीजेपी के सक्रीय कार्यकर्त्ता की भूमिका निभाई थी और मध्यप्रदेश सरकार के विरूद्ध कई आंदोलनों में भाग लिया और जेल भी गए थे। वर्ष 2001 से 2010 तक वे आरएसएस के कार्यकर्त्ता के रूप में भी काम करते रहे थे। जज बनने के बाद वे अखिल भारतीय बलाई समाज के सामाजिक और सांकृतिक कार्यक्रम में बतौर अतिथि भी कई बार शामिल हुए थे।

kvk april ad
व्हाट्सएप्प ग्रुप से जुड़ें और पाएं तुरंत खबरJoin Group