विडियो: टोंककला के ज्वेलर सुरेश सोनी हत्याकांड का पर्दाफाश, भील गिरोह ने की थी हत्या

देवास। पुलिस ने 25 फरवरी 2019 को टोंक खुर्द थाना क्षेत्र में ज्वेलर्स सुरेश सोनी और राम कुमार उर्फ राहुल सोनी के साथ हुई लूट और हत्या की वारदात के आरोपियों को धर दबोचा है। इस लूट की वारदात में आरोपियों ने सुरेश सोनी की हत्या कर दी थी। वारदात के बाद आरोपियों को पकड़ने के लिए उज्जैन रेंज के आईजी ने 30 हजार का इनाम भी घोषित किया था।
उल्लेखनीय है की ज्वेलर सुरेश कुमार सोनी और रामकुमार सोनी काठबड़ौदा ग्राम के हाट बाजार में ज्वेलरी बेचने के बाद जब वापस टोंककला लौट रहे थे, तब रास्ते में उनसे लूटमार की गई थी। जिसमें सुरेश सोनी की मौत हो गई थी।

पुलिस अधीक्षक चंद्रशेखर सोलंकी ने पत्रकार वार्ता में मामले का खुलासा किया। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि घटना के बाद एक एसआईटी टीम का गठन किया गया था जिसमें उप पुलिस अधीक्षक किरण कुमार शर्मा, थाना प्रभारी बरोठा ओपी अहीर, थाना प्रभारी टोंक खुर्द सुनील यादव और थाना प्रभारी सुसनेर जिला आगर मालवा के योगेंद्र सिंह सिसोदिया को लगाया गया था। लगातार प्रयास के बाद मुखबिर के द्वारा जानकारी मिली कि बाग टांडा क्षेत्र के जिला धार के मजदूर काठबड़ौदा क्षेत्र में मजदूरी हेतु आए थे जिसमे दिनेश भूरिया घटना के बाद से गायब था। देवास पुलिस ने इस संबंध में निरीक्षक योगेंद्र सिंह सिसोदिया की तकनीकी दक्षता का सहारा लिया और मामले का खुलासा हुआ कि घटना के दिन दिनेश भूरिया और उसके साथी घटनास्थल और काठबड़ौदा क्षेत्र में आए थे। जानकारी के आधार पर 7 अप्रैल को टांडा क्षेत्र से आरोपी सुनील अलावा, वन सिंह और मगनको गिरफ्तार किया गया और उनसे घटना में उपयोग किया गया मोबाइल फोन, कुल्हाड़ी और लूट का सारा सामान 6 किलो चांदी के जेवरात, 49 ग्राम सोने के जेवरात जिनकी कीमत 5 लाख है बरामद किया गया।
पुलिस अधीक्षक ने बताया कि आरोपी गण मजदूरी करने के बहाने अन्य जिले एवं राज्यों में जाते हैं तथा क्षेत्र की संपूर्ण जानकारी एकत्रित कर अपने साथियों को बुला कर हथियार से लैस होकर बड़ी वारदातों को अंजाम देते हैं।

पुलिस ने अपराध में शामिल तीन आरोपियों सुनील अलावा पिता सुभान उम्र 21 साल जाति भील निवासी टांडा जिला धार, वन सिंह पिता तेरसिंह वारिया जाति भील निवासी थाना गंधवानी जिला धार और मगन अमलिया पिता केशु अमलिया उम्र 28 साल निवासी टांडा जिला धार को गिरफ्तार कर लिया है।

इनकी रही सराहनीय भूमिका

मामले में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक जगदीश डावर के मार्गदर्शन में उप पुलिस अधीक्षक साइबर किरण कुमार शर्मा के नेतृत्व में थाना प्रभारी सुसनेर योगेंद्र सिंह सिसोदिया, थाना प्रभारी बरोठा ओपी अहीर, थाना प्रभारी टोंक खुर्द सुनील यादव, उप निरीक्षक अमित सोलंकी, प्रधान आरक्षक कमल सिंह, आरक्षक अशोक दुबे, देवेंद्र चौहान, जितेंद्र गोस्वामी, धर्मराज सिंह, सुरेश शर्मा, साइबर सेल आरक्षक सचिन चौहान, शिव प्रताप सिंह का सराहनीय योगदान रहा। टीम को पुलिस महानिरीक्षक उज्जैन जोन द्वारा घोषित 30 हजार रूपए नगद पुरस्कार से पुरस्कृत करने की घोषणा की गई है।

kvk april ad
व्हाट्सएप्प ग्रुप से जुड़ें और पाएं तुरंत खबरJoin Group