कृषि उपज मंडी में फिर किसानों से धोखा, लाखों रुपए खा कर व्यापारी फरार, एक करोड़ तक हो सकती है राशी

किसानों से लगातार दूसरी बार धोखा, मंडी प्रशासन लाचार

देवास। कुछ महीने पहले विद्या ट्रेडर्स नाम की फर्म ने किसानों से कृषि उपज की खरीदी की थी और किसानों के करीब 21 लाख रूपये खा कर भाग गया था। कुछ इसी तरह का ठगी फिर देवास कृषि उपज मंडी में किसानों के साथ हुई है और इस बार राशी एक करोड़ से ज्यादा हो सकती है। कृषि उपज मंडी की व्यापारिक फर्म सोमेश्वर ट्रेडर्स का व्यापारी महेश सोनी प्रारंभिक रूप से करीब 21 किसानो के 22 का भुगतान किये बिना फरार हो गया। बताया जा रहा है की 2 अप्रैल के बाद से ही व्यापारी ने पेमेंट बंद कर दिया था। इसलिए किसानों की संख्या और राशी एक करोड़ से अधिक हो सकती है।

किसानों ने किया हंगामा, गेट किया बंद

बार बार फ़ोन लगाने पर जब सोमेश्वर ट्रेडर्स ने किसानों का पेमेंट नहीं किया तो करीब 21 किसान मंडी कार्यालय पहुंचे और जमकर हंगामा किया। किसानों ने गेट पर ताला लगा दिया और मंडी सचिव अश्विन सिन्हा को कहा की जब तक पेमेंट नहीं होगा मंडी बंद रहेगी। मौके पर पहुंची पुलिस ने मामला संभाला।

मंडी सचिव के कार्यकाल में दूसरा गबन, बड़ी लापरवाही सामने आई

कृषि उपज मंडी देवास के इतिहास में किसानो का पैसा खा कर भाग जाने के दोनों मामले सचिव अश्विन सिन्हा के कार्यकाल में ही आए हैं। व्यापारियों को लाइसेंस देने के बदले बेहद कम जमानत राशी जमा करवाई जा रही है। कुछ महीने पहले विद्या ट्रेडर्स का संचालक 21 लाख किसानो का खा कर भगा था तक मंडी समिति ने व्यापारियों से पैसे कलेक्ट कर किसानों का पेमेंट किया था। अब मामला एक करोड़ तक जा सकता है। मंडी प्रशासन का काम होता है की वह यह सुनिश्चित करे की किसानों का पेमेंट दो दिन अन्दर हो गया है। लेकिन एक बार किसानों से धोखा होने के बाद भी मंडी प्रशासन नहीं जागा और दूसरा व्यापारी दगा दे गया। इस प्रकार की घटनाओं से अब आने वाले समय में किसानों के हंगामे बढ़ने की संभावना है। इधर मंडी सचिव राटा रटाया जवाब दे रहे हैं की कार्यवाही की जा रही है।   

office sale