लाइव विडियो: हाय रे गरीबी, मात्र 60 किलो चना के लिए व्यक्ति को जानवरों की तरह चेन ताले से धूप में बाँधा

पुलिस और ग्रामीणों ने युवक को छुड्वाया, खातेगांव क्षेत्र के ग्राम चंदवाना में हुई घटना, मामला दर्ज

पुनीत जैन (खातेगांव).

देवास/खातेगांव। मात्र 60 किलो चने बोने के लिए लिए थे लेकिन वह दो साल तक वापस नहीं दे पाया तो पिता पुत्र ने युवक को चेन ताले से धुप में बांध दिया। ग्रामीणों को जब पता चला तो पुलिस की मदद से युवक को छुड्वाया गया।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक़ मदनलाल (50) ने 2 साल पहले बुआई के समय गाँव के ही हरिप्रसाद पिता परसराम को 60 किलो चना दिया। इन दो साल में हरि ने ना तो चने लौटाए ना ही उसकी कीमत के रूपये। सोमवार (29 अप्रेल) को मदन का बेटा सतीश (19) , हरिप्रसाद (31) को अपने घर बुलाकर लाया। पैसे नहीं लौटाने पर नाराज पिता पुत्र ने मिलकर अपने घर के बाहर ही बेरी के एक पेड़ से हरि के हाथ-पैर सांकल और रस्सी से बाँध दिए। गाँव वाले हरि की यह हालत देखकर मदन के पास पहुंचे और उसे समझाने की कोशिश की। लेकिन मदन और सतीश ने हरि को नहीं छोड़ा। तब हरि की पत्नी ने डॉयल हंड्रेड पर फोन किया। जिसके बाद पुलिस ने चन्दवाना पहुंचकर हरि को छुड़ाया और सभी को खातेगांव पुलिस थाने लेकर आये।  खातेगांव पुलिस थाने के सब इन्स्पेक्टर के एल राठौर ने बताया फरियादी हरि की ओर से प्रकरण पंजीबद्ध कर मदन और सतीश को गिरफ्तार किया। चूँकि सभी धाराएं (342, 294, 34) जमानती हैं इसलिए दोनों को मुचलके पर छोड़ दिया गया। वहीं तहसीलदार कोर्ट से सीआरपीसी की
धारा 107/116 में दोनों पर प्रतिबंधात्मक कार्यवाही करते हुए 6 माह के लिए बाउंड ओवर किया गया है।
सरकारी योजनाओ पर सवाल 
यह तस्वीर देखना इसलिए महत्वपूर्ण है क्योकि गरीब आदिवासियों के लिए सरकार कई योजनाए चला रही है जिसमे कृषि विभाग द्वारा बोने के लिए बीज देना भी शामिल है। ऐसे में मात्र 60 किलो चने का कर्जा वापस करने के लिए एक युवक को 45 डिग्री की गर्मी को भूखा प्यासा जानवरों की तरह बाँध दिया गया। इस घटना से सरकारी योजनाओं की पोल तो खुल गई है।

office sale