अपराधदेवास

छत्तीसगढ़, दिल्ली, राजस्थान, मध्य-प्रदेश राज्य में सूने घरों की चोरी करने वाले अंतर्राज्यीय सिकलीकर गिरोह का पर्दाफाश

देवास लाइव। दिनांक 17-18.05.2024 की रात को थाना औद्योगिक क्षेत्र एवं थाना सिविल लाईन देवास क्षेत्र में 6 अलग-अलग कॉलोनियों के सुने घरों में अज्ञात बदमाशों द्वारा चोरी की वारदात को अंजाम दिया गया। इन मामलों पर थाना औद्योगिक क्षेत्र में अपराध क्रमांक 493/2024, 494/2024, 497/2024, 500/2024 अज्ञात आरोपी के विरुद्ध चोरी की धाराओं के तहत पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

टीम का गठन

प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक देवास श्री सम्पत उपाध्याय द्वारा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (शहर) श्री जयवीर सिंह भदौरिया और नगर पुलिस अधीक्षक श्री दिशेष अग्रवाल के निर्देशन में टीम का गठन किया गया। थाना प्रभारी शशिकांत चौरसिया और उनकी टीम ने घटना स्थल का निरीक्षण कर, वरिष्ठ अधिकारियों को घटना की जानकारी दी।

संदिग्ध व्यक्तियों की पहचान और गिरफ्तारी

तकनीकी साक्ष्य, सीसीटीवी फुटेज, और मुखबिर की सूचना से संदिग्ध व्यक्तियों की पहचान कुंदन, समित, और गुरदीप सिकलीकर के रूप में हुई। एक खुफिया टीम ने सादा कपड़ों में आकाश नगर, इन्दौर में इन व्यक्तियों पर निगरानी रखी और कुंदन और समित को सिरपुर तालाब के पास पकड़ा। पूछताछ में उन्होंने तीसरे आरोपी गुरदीप सिंह सिकलीकर का नाम बताया, जो अभी फरार है।

घटना स्थलों की पहचान

आरोपीगण कुंदन और समित ने चोरी के घटना स्थलों की पहचान कराई और सभी घटना स्थल बताए। उन्होंने विकास नगर देवास में संदीप परमार के घर से चोरी की बात स्वीकार की और छह सूने मकानों में नकूचा फाड़कर नगदी व सोने चांदी के आभूषणों की चोरी की।

जप्तशुदा सामग्री

जप्तशुदा सामग्री में सोने-चांदी के आभूषण, नगदी, और चोरी में प्रयुक्त पल्सर मोटर सायकल शामिल हैं, जिनकी कुल कीमत ₹2,01,900/- है।

गिरफ्तार आरोपीगण

  • कुंदन पिता स्व. बचपन सिंह सिकलीकर, उम्र 23 साल, निवासी आकाश नगर, द्वारकापुरी, इन्दौर।
  • समित उर्फ रफ्तार सिंह पिता सुनार सिंह सिकलीकर, उम्र 19 साल, निवासी बरला, बड़वानी, हाल मुकाम – आकाश नगर, द्वारकापुरी, इन्दौर।

फरार आरोपी

गुरदीप पिता विजय सिंह सिकलीकर, निवासी आकाश नगर, द्वारकापुरी, इन्दौर।

सराहनीय कार्य

नगर पुलिस अधीक्षक श्री दिशेष अग्रवाल, निरीक्षक शशिकांत चौरसिया, और उनकी टीम का सराहनीय योगदान रहा। पुलिस अधीक्षक देवास द्वारा टीम को नगद पुरस्कार की घोषणा की गई।

आरोपीगण का पुराना आपराधिक इतिहास

नामउम्रनिवासअपराध
कुंदन पिता स्व. बचपन सिंह सिकलीकर23 सालआकाश नगर, द्वारकापुरी इन्दौरविभिन्न राज्यों में चोरी के 13 अपराध
समित उर्फ रफ्तार सिंह पिता सुनार सिंह सिकलीकर19 सालबरला, बड़वानी, आकाश नगर, द्वारकापुरी इन्दौरविभिन्न राज्यों में चोरी के 10 अपराध

वारदात का तरीका

आरोपीगण कॉलोनियों की रैकी कर सूने मकानों को निशाना बनाकर चोरी की वारदातों को अंजाम देते थे।

पुलिस टीम द्वारा इस गिरोह के पकड़े जाने से विभिन्न राज्यों में कई चोरी के मामलों का खुलासा हुआ है और चोरी की घटनाओं में कमी आने की संभावना है।

little cry
Sneha
san thome school
sandipani
Back to top button