देवासप्रशासनिक

देवास: बाबू ने अधिकारी-कर्मचारियों की पेंशन में गबन किया, 2 करोड़ डकारे अब परिवार सहित फरार

सहायक भूमि संरक्षण अधिकारी कार्यालय में गबन का मामला

देवास, 9 मार्च 2024: देवास में सहायक भूमि संरक्षण अधिकारी कार्यालय में गबन का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। यहां पदस्थ सहायक ग्रेड-3 शिवम पारुलकर ने अधिकारियों-कर्मचारियों के पेंशन की राशि में हेरफेर करते हुए उसे अपने और परिजन के खाते में डलवा दिया।

मामले का खुलासा तब हुआ जब भोपाल में बैठे कोषालय अधिकारी को इस बात की भनक लगी और उन्होंने मामले को संज्ञान में लिया। इसके बाद कलेक्टर के निर्देश पर एसडीएम बिहारी सिंह तथा जिला कोषालय अधिकारी नेहा कलचुरी ने कार्यालय पहुंचकर उसे सील कर दिया। गुरुवार को उज्जैन से आई कोषालय की टीम ने ताले खुलवाकर सभी दस्तावेज जब्त किए और अपने साथ ले गई।

मामले का खुलासा होने के बाद सहायक ग्रेड-3 शिवम पारुलकर परिवार सहित फरार हो गया है। बताया जाता है कि शिवम पारुलकर ने मां के खाते में एक करोड़ रुपए, स्वयं के खाते में 70 लाख रुपए और 18 लाख रुपए भाई के खाते में डलवाए हैं। यह राशि ऑनलाइन ट्रांसफर की जाती थी। हालांकि प्रशासनिक अधिकारियों ने इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं की है।

प्रारंभिक जांच में 2 करोड़ रुपए का गबन

सूत्रों के अनुसार, शिवम पारुलकर कंप्यूटर से अधिकारी-कर्मचारियों के बिल बनाकर कोषालय से राशि डलवाने का काम देखता था। साथ ही सेवानिवृत्त अधिकारी-कर्मचारियों की राशि भी उसके द्वारा उनके खातों में डलवाई जाती थी। अभी तक की जांच में यह बात सामने आई है कि पारुलकर ने वरिष्ठ कृषि विस्तार अधिकारी राधेश्याम मार्सकोले की सेवानिवृत्ति के बाद उनके नाम से छह बार ट्रांजेक्शन किया जबकि उनके खाते में एक बार ही पैसा पहुंचा।

कलेक्टर ने की कार्रवाई

मामले की जानकारी मिलते ही कलेक्टर ऋषभ गुप्ता ने तत्काल कार्रवाई करते हुए कार्यालय को सील कर दिया और उज्जैन कोषालय की टीम को जांच के लिए बुलाया। टीम ने गुरुवार को कार्यालय में छापा मारकर सभी दस्तावेज जब्त कर लिए।

कलेक्टर ने कहा:

“मामला जानकारी में आने के बाद सहायक भूमि संरक्षण अधिकारी का कार्यालय सील कर दिया गया है। अकाउंट फ्रीज कर दिए गए हैं। उज्जैन से आई कोषालय की टीम ने सारे दस्तावेज भी जब्त कर लिए है। प्रथम दृष्टया ऑन लाइन देखकर ऐसा लग रहा है गबन किया है। फिलहाल कितनी राशि का गबन किया गया है यह नहीं बताया जा सकता क्योंकि टीम जांच कर रही है। रिपोर्ट आने के बाद ही पता चल सकेगा की बाबू ने किसके खाते में कितने की राशि डलवाई है। बाबू सहित जो भी दोषी होगा उस पर कार्रवाई की जाएगी।”

Sneha
little cry
sandipani
ias academy
san thome school
Back to top button