देवासप्रशासनिक

32वां राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह आज से हुआ प्रारम्भ

  • देवास जिले में “सड़क सुरक्षा जीवन रक्षा” पर आयोजित किये जायेंगे विभिन्न कार्यक्रम
  • नागरिक रक्षक बने भक्षक नहीं – विधायक श्रीमती पवार
  • सड़क नियमों का पालन करें और दूसरे लोगों को भी जागरूक करें – कलेक्‍टर श्री शुक्‍ला
  • नियम पालन करते हुए दुर्घटनाओं से बचे और अपने परिवार को भी बचाएं – एसपी डॉ. सिंह

देवास लाइव। जिले में 32वां राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह का शुभारम्‍भ आज परेड ग्राउण्‍ड देवास में हुआ। कार्यक्रम का शुभारम्‍भ विधायक श्रीमती गायत्री राजे पवार, कलेक्‍टर श्री चन्‍द्रमौली शुक्‍ला एवं एसपी डॉ. शिवदयाल सिंह ने कन्‍या पूजन कर किया। इस दौरान नारी सम्‍मान के लिए सांस्‍कृतिक कार्यक्रम का आयोजन भी किया गया तथा जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों ने सम्‍मान अभियान में चलाये जा रहे हस्‍ताक्षर अभियान के तहत हस्‍ताक्षर भी किये। अभियान के अंतर्गत ‘सड़क सुरक्षा जीवन रक्षा’ थीम के अन्तर्गत विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे। इसके लिये विभिन्न विभागों से भी समन्वय स्थापित किया जायेगा। राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह के शुभारम्‍भ अवसर पर श्री राजीव खण्‍डेलवाल, पूर्व महापौर श्री सुभाष शर्मा, श्री दुर्गेश अग्रवाल, सीईओ जिला पंचायत श्रीमती शीतला पटले, एएसपी श्री जगदीश डावर, नगर निगम आयुक्‍त श्री विशाल सिंह चौहान, ट्राफिक डीएसपी श्री किरण शर्मा, यातायात निरीक्षक सुश्री सुप्रिया चौधरी, महिला बाल विकास अधिकारी श्रीमती नीलम बघेल, जिला परिवहन अधिकारी श्रीमती जया वसावा सहित अन्‍य अधिकारी एवं पुलिसकर्मी, मैजिक वाहन चालक उपस्थित थे।
इस अवसर पर देवास विधायक श्रीमती गायत्री राजे पवार ने कहा कि नागरिक रक्षक बने भक्षक नहीं। राज्‍य शासन द्वारा प्रदेश में महिलाओं के सम्‍मान के लिए ‘’सम्‍मान अभियान’’ भी चलाया जा रहा है। हम सभी को महिलाओं का सम्‍मान करना चाहिये। ‘’सम्‍मान अभियान’’ का उद्देश्य महिला अपराध के उन्मूलन में समाज की सक्रिय भागीदारी सुनिश्चित करना है और आम लोगों को कानूनी प्रावधानों के प्रति इस तरह जागरूक करना है कि वे महिला सुरक्षा के प्रति अपनी जिम्मेदारी को निभा सकें। उन्‍होंने कहा कि दुर्घटनाओं से बचाव के लिए यातायात के नियमों का पालन अनिवार्य रूप से करना ही होगा ताकि जीवन सुरक्षित रहे। कोई भी व्यक्ति अकाल मृत्यु का शिकार नहीं हो इसके लिए सावधानी से वाहन चलाएं।
कलेक्‍टर श्री शुक्‍ला ने कहा कि महिलाओं और बच्‍चों के प्रति आदर रखें। अपराध रोकने के लिए सभी वर्ग की जिम्‍मेदारी है। नियमों का पालन करें और दूसरे लोगों को भी जागरूक करें। वाहन चालक रोल मॉडल होते है, अपराध रोकने में वाहन चालकों की बडी भूमिका होती है। उन्‍होंने कहा कि लापरवाही के साथ वाहन चलाना सड़क दुर्घटनाओं में मृत्यु का प्रमुख कारण है, लोगों को यातायात के नियमों का पालन अपनी आदत में लाना होगा। वाहन चलाते वक्त सावधानी बरतें, सीट बेल्ट लगाएं, दो पहिया वाहन चालक हेलमेट पहने तथा मोबाईल पर बात करते वक्‍त वाहन न चलाए। माता-पिता अपने बच्चों को यातायात नियमों के बारे में जागरूक करें, समझाइश देवें। लाइसेंस के साथ ही वाहन चलाएं, सबको जागरूक करें ताकि सब सुरक्षित रहें।
एसपी डॉ. शिवदयाल सिंह ने कहा कि कानून का पालन अतिआवश्‍यक है। सड़क दुर्घटनाओं से तभी बचा जा सकता है जब सभी लोग यातायात के नियमों का पालन करें। नियमों की अवहेलना दुर्घटनाओं का प्रमुख कारण है। इस बारे में व्यक्ति को स्वयं जागरूक रहना पडेगा औरों को भी जागरूक करना पड़ेगा। नियम पालन करते हुए दुर्घटनाओं से बचे और अपने परिवार को भी बचाएं, नशा नहीं करें। 32वां राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह अंतर्गत शहर के चौराहों पर आमजन के लिये सड़क सुरक्षा हेतु जन-जागरण अभियान का आयोजन किया जायेगा और सीट बेल्ट एवं हेलमेट चेकिंग अभियान चलाया जायेगा। अभियान अंतर्गत सड़क सुरक्षा से सम्बन्धित आवश्यक जानकारी और निर्देश दिये जायेंगे।

san thome school
Sneha

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Back to top button