अपराधदेवास

अमलतास हॉस्पिटल में शुरू हुई प्रेम कहानी हत्या के साथ समाप्त, अस्पताल प्रबंधक ने अपनी प्रेमिका के पति को सुपारी देकर मरवाया, आरोपी, पत्नी समेत पांच गिरफ्तार

 

देवास लाइव। इंदौर में हुई BPO कर्मी आकाश मेडकिया की हत्या के मामले में खुलासा हो गया है। आकाश की हत्या देवास के डॉक्टर मनीष शर्मा ने कराई थी। मनीष का आकाश की पत्नी वृतिका से अफेयर है। आकाश को इसका पता लग गया था। मनीष ने आकाश को धमकाने के लिए बदमाश भेजे थे, लेकिन उन्होंने चाकू मारकर हत्या कर दी। घटना पोलोग्राउंड के पास 13 अक्टूबर की सुबह हुई थी। उज्जैन निवासी मृतक आकाश इंदौर में वाल्मीकि नगर में रहता था।

Dr मनीष शर्मा देवास के अमलतास हॉस्पिटल में प्रबंधक का काम करता था। बताया जा रहा पीएचडी करने के कारण अपने नाम के आगे डॉक्टर लगाता था। मृतक की पत्नी वृत्ति का इसी अस्पताल में काम करती थी और उसका डॉ मनीष से संबंध स्थापित हो गया था। आकाश को जब इसका पता चला तो उसने देवास पहुंचकर मनीष को पत्नी से दूर रहने का कहा था। इसी को लेकर आकाश ने अमलतास हॉस्पिटल में हंगामा भी किया था। मनीष ने आकाश को सबक सिखाने के लिए अस्पताल के कर्मचारी जितेंद्र और वृतिका के साथ मिलकर सबक सिखाने की साजिश रची थी।

पुलिस ने इस मर्डर केस में मनीष और पत्नी वृतिका के अलावा देवास के अमलतास हॉस्पिटल के हाउस कीपिंग इंचार्ज जितेंद्र लीलाधर वर्मा (जामनोद, देवास), अर्जुन मंडलोई (पिपलिया, देवास) और अंकित सिंह पंवार (उज्जैन) को भी अरेस्ट किया है।

 SP आशुतोष बागरी के मुताबिक, CCTV फुटेज में बाइक पर दो संदिग्ध दिखे थे। मर्डर में लूट फिर कर्ज के लेन-देन और अवैध संबंध के एंगल से जांच की गई। आकाश की पत्नी वृतिका उर्फ मोना के मोबाइल की कॉल डिटेल निकाली। उसकी डॉक्टर मनीष शर्मा से सबसे ज्यादा बात और चैटिंग की डिटेल मिली। पुलिस ने मनीष को देवास से इंदौर लाकर पूछताछ की। उसने दो बदमाशों से हमला कराने की बात स्वीकार की है।

आकाश के मर्डर पहले मनीष जानबूझ कर राजस्थान चला गया था। यहां उसने अर्जुन और अंकित को बाइक, मोबाइल और चाकू उपलब्ध करा दिया था। आकाश का फोटो दिखाकर उसकी पहचान कराई थी। हमला करने के एक दिन पहले अर्जुन और अंकित सरवटे बस स्टैंड पर आकर रुक गए थे। सुबह वृतिका ने निकलने से पहले मनीष को मिस कॉल कर दी थी, ताकि हमलावर तैयार हो जाएं। जब वृतिका को बस में बैठाकर आकाश लौटने लगा, तभी हमलावरों ने उसकी आंख में मिर्च डालकर चाकू मारे। मनीष और वृतिका पर शक न हो, इसके लिए हमला करते समय लेन-देन के रुपए लौटाने की बात की।

धमकाने के लिए बुलाए थे हमलावर

मनीष शर्मा मूलत: राजस्थान का रहने वाला है। वह पहले इंदौर के बाणगंगा इलाके के एक प्राइवेट हॉस्पिटल में था। यहां टूल चोरी के मामले में उसे निकाल दिया गया था। यहीं के दो कर्मचारी लड़के मनीष के संपर्क में थे। उनकी मदद से पूरी वारदात को अंजाम देने की बात सामने आ रही है। पूछताछ में पता चला है कि आकाश को मनीष और पत्नी वृतिका की दोस्ती पर शक हो गया था। यह बात वृतिका ने मनीष को बताई थी। डॉक्टर पर पहले भी महिला कर्मचारियों से दोस्ती और गलत काम करने के आरोप लग चुके हैं।

Royal Group
Sneha

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

Back to top button

Adblock Detected

कृपया Adbloker बंद करें और क्रोम ब्राउजर मे ही ओपन करें