देवासनगर निगम

नगर निगम का अजीब फैसला, 11 वार्डों में पानी की सप्लाई रोकी, क्या जनता को प्यासा रखकर वसूला जाएगा टैक्स?

 

देवास लाइव। लोगों ने जलकर नहीं भरा तो नगर निगम ने देवास शहर के 11 वार्डों में पानी की सप्लाई रोक दी। बताया जा रहा है शहर में 10 करोड़ से अधिक का जलकर लोगों पर बकाया है। अब लोगों को प्यासा रखकर नगर निगम जल कर की वसूली करेगा।

शहर के वार्ड क्रमांक 17,29, 33, 34,35,36, 37, 38, 39, 40 और 41 नंबर के वार्डों में पानी की सप्लाई रोकी गई है। अब इन इलाकों के लोग पानी के लिए दर-दर भटक रहे हैं। कोरोना काल के बाद से शहर की गरीब बस्तियों में बिजली के बिल, नगर निगम के जलकर, यूजर चार्ज, संपत्ति कर भरने में लोग पिछड़ गए हैं। एक ओर शहर में कई गरीबों के बिजली कनेक्शन काटे गए वहीं अब नगर निगम पानी की सप्लाई रोक रहा है। 

नगर निगम एक अर्ध सरकारी संस्था होती है जो नगर में नागरिक सुविधाओं के लिए के लिए टैक्स लेकर काम करती है। नगर निगम भी इन सेवाओं को तभी उपलब्ध करवा सकता है जब नागरिक समय पर टैक्स अदा करें। लेकिन महामारी के कारण डिफाल्टर लोगों की संख्या में एकदम से इजाफा हुआ है ऐसे में बिजली पानी बंद करने के बजाए टैक्स वसूलने के दूसरे तरीके अपनाए जा सकते हैं। सरकारी संस्थाओं को सरकार की जनकल्याण की नीतियों पर चलना चाहिए ना की किसी प्राइवेट कंपनी की तर्ज पर।

sandipani
Sneha
san thome school
ias academy
little cry

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Back to top button