देवासप्रशासनिक

प्रभारी मंत्री सुश्री उषा ठाकुर ने अमलतास का दौरा किया, 50 बेड बढ़ाए गए

  • अमलतास अस्पताल में 100 आईसीयू बेड के अतिरिक्त 50 अन्य बेड बढ़ाये
  • अस्पताल में देवास, उज्जैन, शाजापुर एवं आगर-मालवा के मरीजों का ही इलाज हों
  • अमलतास अस्पताल में सहायता केंद्र बनाया गया है, जिसका नंबर 07272-426514 तथा मोबाइल नंबर 7024107416 है
  • जिले की प्रभारी मंत्री सुश्री उषा ठाकुर ने अमलतास अस्पताल का निरीक्षण कर ली बैठक

देवास, 13 अप्रैल 2021/ दुनिया में डॉक्टरों को भगवान का दर्जा दिया गया है। डॉक्टर जीवनदायक होता है तथा किसी भी स्थिति में मरीज का इलाज कर उसे स्वस्थ्य करने में जूट जाता है। वर्तमान में कोविड-19 महामारी से पूरी दुनिया लड़ाई लड़ रही है, जिसमें डॉक्टर्स दिनरात करके मरीजों को स्वस्थ्य करने में जूट हुए हैं। आप सभी वैश्विक महामारी में एकजूट होकर सभी मरीजों को अच्छे से इलाज करें। उक्त बातें प्रदेश की पर्यटन, संस्कृति एवं आध्यात्म विभाग की मंत्री एवं जिले की प्रभारी मंत्री सुश्री उषा ठाकुर ने देवास जिले के बांगर स्थित अमलतास अस्पताल आज बैठक में कही। इस दौरान सांसद श्री महेंद्र सिंह सोलंकी, विधायक श्री मनोज चौधरी, श्री राजीव खंडेलवाल, कलेक्टर श्री चंद्रमौली शुक्ला, सीईओ जिला पंचायत श्री प्रकाश सिंह चौहान, एसडीएम श्री प्रदीप सोनी, डिप्टी कलेक्टर सुश्री प्रिया वर्मा, सीएमएचओ डॉ. एमपी शर्मा, अमलतास अस्पताल के पदाधिकारी एवं अन्य संबंधित उपस्थित थे।

बैठक में प्रभारी मंत्री सुश्री उषा ठाकुर ने निर्देश दिए अमलतास अस्पताल में 100 आईसीयू युक्त बेड के अतिरिक्त 50 आईसीयू युक्त बेड लगाए जाएं। जिससे मरीजों को इलाज में परेशानी हो और मरीजों को तत्काल इलाज प्रारंभ हो सके। उन्होंने कहा कि रेमडेसिविर इंजेक्शन रिजर्व में रखें। ऑक्सीजन लगातार भरवाते रहें तथा ऑक्सीजन के सिलेंडर भी रिजर्व रखें। उन्होंने कहा जिला अस्पताल से जब भी मरीज को रैफर करें तो उसकी चार जांचों को लेने के बाद ही रैफर करें, उससे पहले नहीं। सभी प्राथमिकता में रखें कि मरीज को अच्छा, संतुष्टिपूर्वक इलाज मिले। इसकी शिकायत नहीं मिले इसका विशेष ध्यान रखें।

बैठक में प्रभारी मंत्री सुश्री ठाकुर ने कहा कि अमलतास अस्पताल को कोविड-19 सेंटर बनाया गया है, यहां पर देवास, उज्जैन, आगर मालवा तथा शाजापुर के मरीजों का इलाज किया जाएगा। यहां पर इंदौर व अन्य जिलों के मरीजों को इलाज नहीं करें, इसका ध्यान रखें।

पोर्टेबल ऑक्सीजन जनरेटर का प्लांट शीघ्र लगाएंगे

बैठक में प्रभारी मंत्री सुश्री ठाकुर ने अस्पताल की पूरी व्यवस्था की जानकारी ली। इस पर बताया गया कि अमलतास अस्पताल में ऑक्सीजन के 300 सिलेंडर उपलब्ध हैं, जिन्हें रेगुलर भरवाया जाता है। पीथमपुर के ऑक्सीजन सेंटर से लगातार ऑक्सीजन आती है। वहां कर्मचारी की ड्यूटी लगा रखी है तथा वह 24 घंटे तैनात रहते हैं। अस्पताल में 6000 लीटर के ऑक्सीजन लिक्विड टैंक हैं। पोर्टेबल ऑक्सीजन जनरेटर का प्लांट शीघ्र लगाएंगे जिससे आक्सीजन प्राकृतिक रूप से तैयार होगी।

अस्पताल में सहायता केंद्र बनाया गया है

बैठक में बताया गया कि अस्पताल परिसर में एक सहायता केंद्र बनाया गया है, जिसका दूरभाष नंबर 07272-426514 है तथा मोबाइल नंबर 7024107416 है।

मरीजों के पास अटैंडर को नहीं जाने दे, सहायता केंद्र से ही दे जानकारी

बैठक में प्रभारी मंत्री सुश्री ठाकुर ने कहा कि कोविड-19 एक संक्रामक बीमारी है। उन्होंने कहा कि मरीजों के बेड के पास अटैंडरो को नहीं जाने दें। उन्हें मरीजों के संबंध में जानकारी सहायता केंद्र से ही प्रदान करें। मरीजों एवं उनके अटैंडरों में सकारात्मक वाला वातावरण निर्मित करें।

पुलिस चौकी बनाए तथा अधिकारियों की लगाए ड्यूटी

बैठक में प्रभारी मंत्री सुश्री ठाकुर ने निर्देश दिए अस्पताल में एक पुलिस चौकी बनाया जाएं तथा वहां ड्यूटी लगाई जाएं तथा अस्पताल में प्रशासनिक अधिकारी की ड्यूटी भी लगाना सुनिश्चित करें। उन्होंने निर्देश दिए डाक्टरों की ड्यूटी का चार्ट भी चस्पा करे। उन्होंने निर्देश दिए कि होम आईसोलेशन करने वाले मरीजों का अस्पताल में सारी जांच करने के बाद ही होम आईसोलेशन करें।

ias academy
Sneha
sandipani
little cry
san thome school

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Back to top button