खेती किसानीदेवासप्रशासनिक

मध्यप्रदेश में फसल बीमा दावों की 7 हजार 6 सौ 18 करोड़ रूपयों की राशि का 49 लाख 85 हजार किसानों को भुगतान

 • किसान कल्याण के नए आयाम तय कर रही शिवराज सरकार

• आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश के सपने को साकार करने का किसान कल्याण है मज़बूत आधार

• किसान कल्याण की नींव पर हो रहा आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश का निर्माण

• मध्यप्रदेश सरकार द्वारा देश में फसल क्षति की सबसे बड़ी सहायता राशि का वितरण

• 49 लाख बीमा दावों की 7 हजार 6 सौ 18 करोड़ रूपयों की राशि का 49 लाख 85 हजार किसानों को भुगतान

• कार्यक्रम में केन्द्रीय कृषि मंत्री श्री नरेन्द्र तोमर जी वर्चुअली उपस्थित रहे।

• मुख्यमंत्री ने किसानों के लिए सोलर पैनल लगाने की अपील करते हुए कहा कि 2 मैगावाट तक सोलर प्लांट लगाकर बिजली बनाए किसान। 3 रूपये 15 पैसे प्रति यूनिट पर राज्य सरकार बिजली खरीदेगी।

भोपाल: प्राकृतिक आपदाओं से फसलों को हुई क्षति की आपूर्ति के लिए ‘प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना” के तहत मध्यप्रदेश सरकार ने शनिवार 12 फरवरी को एक विशेष कार्यक्रम में 7 हज़ार 6 सौ 18 करोड़ रूपए की राशि का वितरण किया। किसान कल्याण और कृषि विकास विभाग, मध्यप्रदेश सरकार ने सिंगल क्लिक प्रक्रिया के माध्यम से किसानों को इस राशि का वितरण करने के लिए बैतूल में एक भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया। यह कार्यक्रम माननीय मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में किसान कल्याण के उद्देश्य से आयोजित किया गया था।

कार्यक्रम का औपचारिक उद्घाटन कन्या पूजन से हुआ। इस विशेष कार्यक्रम में केंद्रीय कृषि मंत्री श्री नरेन्द्र तोमर जी वर्चुअली उपस्थित रहे। उन्होंने अपने संबोधन में कहा, “मध्यप्रदेश के लिए आज ऐतिहासिक अवसर है। शिवराज सिंह जी की हमेशा से ही किसानों को अधिक से अधिक लाभ दिलाने की नियत रही है। आज पहला मौका है जब फसल बीमा की इतनी बड़ी राशि एक साथ किसानों के खाते में जमा की जा रही है, इस अवसर में एमपी के सीएम और कृषिमंत्री को बधाई देता हूं। विगत 15 वर्षों में शिवराज सिंह चौहान जी के नेतृत्व में खेती-किसानी के क्षेत्र में जो प्रगति हुई है वह देश के मानचित्र पर उल्लेखित है। उन्होंने आगे कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत की 6 प्राथमिकताएं हैं, गांव, गरीब, किसान, दलित, महिला और नौजवान। इनकी उन्नति पर ही देश की प्रगति निर्भर है।

श्री तोमर ने कहा कि फसल बीमा योजना का पैसा किसानों के लेने की नौबत न आये, लेकिन अगर फसल पर कोई नुकसान होता है तो उनके पास एक सुरक्षा कवच होना चाहिए। अब तक 1 लाख 15 हजार करोड़ रूपये किसानों को दिए जा चुके हैं। 888 करोड़ रूपए के प्रमीयम के बदले में किसानों को 7600 करोड़ रूपये भरपाई होना एक ऐतिहासिक अवसर है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सिंगल क्लिक के माध्यम से राशि किसानों के खाते में ट्रांसफर करने के बाद अपने संबोधन में कहा, “7618 करोड़ रूपए हमने अभी डाले हैं, लेकिन जब फसलें खराब हुई थी तब राहत राशि के रूप में 2876 करोड़ रूपये की सहायता दी गई थी। यानि 10 हजार 494 करोड़ रूपये अभी तक किसानों को फसल बीमा और राहत राशि के रूप में दिए जा चुके हैं।”

मुख्यमंत्री जी ने पिछले 22 महीनों का लेखा-जोखा बताते हुए कहा कि अब तक किसानों के खातों में 1 लाख 64 हजार 737 करोड़ रुपये अलग-अलग समय और योजनाओं के माध्यम से डाले जा चुके हैं।”

कार्यक्रम में कृषि मंत्री, बैतूल सांसद दुर्गादास उईके, विधायक डॉ.योगेश पंडारकर, भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष पंकज जोशी, मध्यप्रदेश के कृषि मंत्री श्री कमल पटेल, भाजपा जिला अध्यक्ष आदित्य शुक्ल बबला, किसान मोर्चा अध्यक्ष दर्शन मौर्य, एसीएस – अजीत केसरी के अलावा अन्य कई गणमान्य सदस्य उपस्थित थे।

Royal Group
Sneha

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Back to top button

Adblock Detected

कृपया Adbloker बंद करें और क्रोम ब्राउजर मे ही ओपन करें