देवासप्रशासनिक

लाॅक डाउन में प्रतिबंधित होने पर भी मांस विक्रय करने पर प्रशासन की टीम ने की कार्यवाही

  • आयुर्वेदिक औषधि त्रिकटु चूर्ण एवं शंसमनी वटी और होम्योपैथिक औषधि आर्सेनिकम एल्ब-30 का किया गया वितरण
  • दो पहिया और चार पहिया वाहनो का चालान बनाकर 14 हजार रुपये की वसूली

देवास। जिले में कोरोना वायरस से बचाव के लिए विशेष रणनीति के अंतर्गत सकारात्मक सोच से कार्य करते हुए जिला प्रशासन द्वारा समस्त कोरोना योद्धओं यथा डाॅक्टर, नर्सिंग/पैरा मेडिकल स्टाफ, जनप्रतिनिधि, पुलिस, समाजसेवी संस्थाऐं, मीडियाकर्मी, सफार्इकर्मी एवं अन्य सभी लोग जो इस वायरस से लडने के लिए प्रयासरत हैं, के प्रोत्साहन हेतु एक वीडियों क्लीपिंग जारी की गर्इ।

लाॅक डाउन में प्रतिबंधित होने के बाद भी मांस विक्रय करते हुए प्रशासन की टीम जिसमें नायब तहसीलदार राजश्री ठाकुर, नगर निगम के जितेन्द्र सिसोदिया एवं थाना प्रभारी सिविल लार्इन, नाहर दरवाजा ने मौके पर जब्त अवैध रूप से बिक्रित मांस को नष्ट कर आरोपियों के विरूद्ध थाना सिविल लार्इन एवं थाना नाहर दरवाजा क्षेत्र में प्रकरण दर्ज किया जाकर कार्यवाही की गर्इ।

कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव हेतु जिला आयुष अधिकारी डाॅ गिर्राज बाथम के निर्देशन में समस्त नगर पंचायातों एवं प्रवासी श्रमिको में आयुर्वेदिक औषधी त्रिकटु चूर्ण एवं शंसमनी वटी और होम्योपैथिक औषधी आर्सेनिकम एल्ब-30 का वितरण किया गया, दोनो ही औषधियां शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढाती है।

पुलिस प्रशासन द्वारा आज लाॅक डाउन अवधि के दौरान सड़को पर पाये गये 32 दो पहिया और चार पहिया वाहनो का चालान बनाकर 14 हजार रुपये की वसूली की गर्इ। अनुविभागीय अधिकारी कन्नौद ने बताया कि दो पहिया एवं चार पहिया वाहनों को प्रतिबंधित होने से चेक पाॅर्इन्टों पर कारण जानने के बाद ही छोड़ा जा रहा है। सख्ती से लाॅक डाउन का पालन कराया जा रहा है।

चिकित्सकीय इमरजेंसी सहायता हेतु अमलतास हाॅस्पिटल एम्बुलेंस उपलब्ध है अधिक जानकारी के लिए संपर्क नम्बर 07272-426500-501, 07272-426514, 917389934379 है। इसी प्रकार चिकित्सक के लिए परामर्श के लिए 07272-426525 एवं 07272-426527 पर संपर्क किया जा सकता है।

अनुविभागीय अधिकारियों ने बताया कि ग्राम पंचायतों में सेनेटार्इजर का छिड़काव कराया गया। बाहर से आने वाले व्यक्तियों का परीक्षण स्वास्थ्य विभाग द्वारा करवाया जा रहा है। हर गांव में सर्दी-खांसी का सर्वे आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, आशा कार्यकर्ता एवं ग्राम रोजगार सहायक द्वारा करवाया जा रहा है। जिले एवं नगरीय विकास निकायों एवं जनपदों के माध्यम से कुल 6263 भोजन पैकेट निराश्रित/बेघर/मजदूरी पर निर्भर लोगों को वितरित किये गये।

san thome school
Sneha

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Back to top button