देवास

वीडियो: हाटपिपलिया उपचुनाव की मतगणना उत्कृष्ट विद्यालय में होगी, सेंट्रल स्कूल से मिलेगी निर्वाचन सामग्री

हाटपिपलिया उप चुनाव का बिगुल बजने वाला है, कलेक्टर ने देखी प्रशासनिक तैयारियां


देवास लाइव। आगामी हाटपीपल्या विधानसभा-172 उप चुनाव-2020 की तैयारियां प्रारंभ हो गई है। इस संबंध में कलेक्टर श्री चंद्रमौली शुक्ला ने आज उत्कृष्ट विद्यालय देवास एवं केंद्रीय विद्यालय बैंक नोट प्रेस का निरीक्षण किया।

निरीक्षण के दौरान आगामी उप चुनाव-2020 के लिए उत्कृष्ट विद्यालय का चयन किया गया। इस अवसर पर सीईओ जिला पंचायत श्रीमती शीतला पटले, एएसपी जगदीश डावर, एसडीएम प्रदीप सोनी, डिप्टी कलेक्टर शिवानी तरेटिया, सीएसपी अनिल सिंह राठौर, कार्यपालन यंत्री लोक निर्माण विभाग मनीष मरकाम, प्राचार्य उत्कृष्ट विद्यालय चंद्रावती जाधव, सहित अन्य संबंधित अधिकारीगण उपस्थित थे।

इस अवसर पर कलेक्टर श्री शुक्ला ने कहा कि आगामी हाटपीपल्या विधानसभा-172 उप चुनाव-2020 के लिए देवास के उत्कृष्ट विद्यालय को स्ट्रांग रूम बनाया गया है। यहीं से 172-हाटपीपल्या विधानसभा उप निर्वाचन की मतदान सामग्री का वितरण होगा तथा यहीं पर जमा होगी। निर्वाचन के बाद मतगणना का कार्य भी यहीं (उत्कृष्ट विद्यालय देवास) में सम्पन्न होगा। निरीक्षण के दौरान कलेक्टर ने निर्देश दिए कि आगामी दिनों में उप चुनाव की प्रक्रिया प्रारंभ करना है। इसके लिए सभी आवश्यक तैयारियां शुरू कर ली जाएं। उन्होंने पीड्ब्यू ाडी विभाग को निर्देश दिए कि उत्कृष्ट विद्यालय में बनाए गए स्ट्रांग रूम के लिए सभी आवश्यक तैयारियां करें। उन्होंने निर्देश दिए कि स्ट्रांग रूम में लगने वाली बैरिकेटिंग, लाइटिंग, पार्किंग व अन्य आवश्यक कार्य करें तथा कार्य की प्रगति की रिपोर्ट शीघ्र भी देंवे।

कलेक्टर श्री शुक्ला ने कहा कि उप चुनाव में अधिक से अधिक मतदान हों इसकी रूपरेखा तैयार करें। उन्होंने कहा कि मतदान के लिए मतदाता जागरूकता अभियान भी चलाएं तथा मतदाताओं को मतदान करने के लिए प्रेरित करें।

उत्कृष्ट विद्यालय का किया निरीक्षण
कलेक्टर श्री शुक्ला ने उत्कृष्ट विद्यालय का भी निरीक्षण किया तथा वहां की व्यवस्थाओं के बारे में स्कूल की प्राचार्य से जानकारी ली। उन्होंने स्कूल के मैन गेट पर आने वाले छात्रों, अभिभावकों तथा अन्य लोगों की कोरोना संक्रमण संबंधी प्राथमिक जांच के कार्य की सराहना की तथा उन्होंने कहा कि थर्मल स्क्रीनिंग में अगर तापमान बड़ा हुआ पाया जाता है और सर्दी, खांसी व बुखार की समस्या हो तो उसे जिला अस्पताल न भेजकर फीवर क्लिनिक में भेजे। जिससे उसकी प्रारंभिक जांच व इलाज हो सकें।

Sneha
san thome school

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Back to top button