अपराधदेवासपुलिस

वीडियो: 15 करोड़ से अधिक के लूट के मोबाइल ट्रक समेत जप्त, सॉफ्टवेयर इंजीनियर चलाता था गिरोह

देवास लाइव। एक ट्रक भरकर 15 करोड़ से भी अधिक मूल्य के मोबाइल लूट कर लाए गए थे जिसे देवास पुलिस ने पकड़ने में सफलता हासिल की है।

देवास और आंध्रप्रदेश पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए मोबाइल डकैती करने वाले एक अंतरराज्यीय गिरोह का पर्दाफाश किया है। इन वारदातों के मास्टरमाइंड सहित गिरोह के तीन सदस्यों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है जबकि एक दर्जन बदमाशों को नामजद किया है। पुलिस ने इंदौर, भोपाल, मुंबई और पुणे के कई स्थानों पर दबिश देकर 15 करोड़ के मोबाइल दो आयशर, दो ट्रक, एक कार और 4 बाइक जप्त की है। इन वारदातों का मास्टरमाइंड महाराष्ट्र का राम गाड़े सॉफ्टवेयर इंजीनयर है, जो मोबाइलों का आईएमइआई नंबर बदलकर मोबाइलों को ठिकाने लगाने का काम करता था। मोबाइल की सप्लाई देश के बड़े शहरों सहित नेपाल और बांग्लादेश तक की जाती थी।

देवास पुलिस अधीक्षक डॉक्टर शिव दयाल सिंह ने पत्रकार वार्ता में अंतरराज्यीय गिरोह का पर्दाफाश करते हुए बताया कि आंध्र प्रदेश के चित्तूर और देवास जिले के आगरा रोड हाईवे पर मोबाइल लूट की घटनाएं हुई थी। जिन्हें लेकर आंध्र प्रदेश की पुलिस करीब 1 महीने पहले देवास आई थी। देवास के कंजरो इन वारदातों में हाथ होने का सुराग लगा था। आंध्र प्रदेश के चित्तूर और देवास पुलिस ने मुखबिरों का जाल बिछाया और टोंक खुर्द तथा धानी घाटी कंजर डेरों पर लगातार दबिश दी गई। करीब 1 महीने की मशक्कत के बाद पुलिस आरोपियों तक पहुंची और वारदात का मुख्य सरगना राम गाड़े निवासी बीड़ पुणे और धानी घाटी कंजर डेरे का रहने वाला अंकित झाँझा पिता राजाबाबू झाँझा और चिड़ावद निवासी रोहित पिता भूरिया झाला को गिरफ्तार करने में सफलता पाई। पुलिस ने पकड़े गए आरोपियों की निशानदेही पर मुंबई, पुणे, इंदौर और भोपाल से 15 करोड़ रुपए के एमआई सहित कुछ ब्रांडेड कंपनियों के मोबाइल बरामद किए हैं। पुलिस ने वारदात में प्रयुक्त दो आईसर मिनी ट्रक , एक कार और 4 बाइक भी जप्त की है। पुलिस ने इस मामले में एक दर्जन बदमाशों को नामजद करने में सफलता पाई है। तीन आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद शेष नौ आरोपियों की तलाश पुलिस सरगर्मी से कर रही है। मामले का खुलासा करते हुए देवास पुलिस अधीक्षक डॉ शिवदयाल सिंह ने रखते हुए बताया कि इन वारदातों का मास्टरमाइंड राम गाड़े सॉफ्टवेयर इंजीनियर है और उसके तार देश के बड़े शहरों सहित नेपाल और बांग्लादेश में भी जुड़े हैं। मामले में पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही है।

पुलिस की इस कार्रवाई में डीएसपी हेड क्वार्टर किरण शर्मा के नेतृत्व में बीएनपी थाना प्रभारी मुकेश इजारदार, विजया गंज मंडी थाना प्रभारी जितेंद्र सिंह जादौन साइबर सेल आरक्षक शिवप्रताप सिंह सेंगर, उप निरीक्षक कुसुम गोयल, आरक्षक आलोक चंदेल, राकेश गुर्जर, संजय मालवीय, विशाल हाड़ा, सुभाष बोड़ाना, जितेंद्र गोस्वामी, यशवंत सिंह तोमर, शिव कुमार, महेंद्र राव, और सैनिक भगवान सिंह की सराहनीय भूमिका रही। सफलतम कार्रवाई के लिए इस पुलिस टीम को अवार्ड देने की घोषणा भी पुलिस अधीक्षक ने की है

san thome school
Sneha

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Back to top button