देवासधर्म संकृति

काशी के गंगा घाट की तरह दिखाई दे रहा देवास की टेकरी पर महाआरती का दृश्य

देवास। अलौकिक, अनूठा, अदभूत, विहंगम दृश्य दिखाई दे रहा हैं संस्था देववासिनी द्वारा प्रत्येक शनिवार, रविवार को मां चामुण्डा टेकरी पर आयोजित होने वाली महाआरती का, एक प्रकार से देश की आध्यात्मिक राजधानी काशी की गंगा आरती की तरह माता टेकरी की महाआरती प्रकट हो रही हैं। संस्था देववासिनी द्वारा देवास की टेकरी पर प्रारंभ किया गया महाआरती का धार्मिक समारोह प्रत्यक्ष काशी, हरिद्वार, ऋषिकेश में होने वाली महाआरती की तरह किसी धार्मिक अनुष्ठान की भांति प्रतीत हो रहा हैं । संस्था के सचिव महेश चौहान ने बताया कि देवास नगर के प्रत्येक वार्डों से श्रद्धालुओं को आमंत्रित कर महाआरतियां संपन्न कराई जा रही है। इसी क्रम में शनिवार को वार्ड क्रमांक 28 कर्मचारी कॉलोनी क्षेत्र तथा रविवार को वार्ड क्रमांक 10 विजयनगर क्षेत्र के श्रद्धालुओ ने अपने हाथों से माता रानी की आरती की। इस दौरान शहर के वरिष्ठ नागरिक संस्था के ओपी पाराशर, डॉक्टर एम कुमार, धीरज सोलंकी,
सहित शहर के श्रद्धालु जन और संस्था के संरक्षक सांसद महेन्द्रसिंह सोलंकी भी शामिल हुए। विद्वान पंडितो द्वारा काशी की गंगा आरती की तर्ज पर चामुण्डा माता की महाआरती के पश्चात ढोल-धमाके के साथ भगवा पताकाएं लहराते, जय माताजी, जय श्री राम का उद्घोष करते हुए भक्तजन बड़ी माता तुलजा भवानी के दरबार में पंहुचते हैं। जंहा मां तुलजा भवानी की निरंजनी महाआरती संपन्न हुई। दोनो माताओं की महाआरती के पश्चात भव्य आतिशबाजी और संस्था के संयोजन में भोजन महाप्रसादी ग्रहण कर भक्तजन अपने अपने घरों को प्रस्थान करते हैं। आगामी शनिवार 23 दिसंबर को वार्ड क्रमांक 37  तथा रविवार 24 को वार्ड क्रमांक 41 के नागरिकों श्रद्धालुओं द्वारा माता रानी की महाआरती संपन्न की जाएगी। आरती में सभी नगर वासियों को आरती में शामिल होने का अनुरोध संस्था द्वारा किया गया है।
central malwa school
Sneha
Ebenezer
Back to top button