देवास

हाईटेंशन लाइन से लगा करंट, देवास के दो युवकों की इंदौर में मौत


इंदौर की सिलिकॉन सिटी में बुधवार रात एक दर्दनाक हादसे में बी.फार्मा छात्र दिव्यांश कानूनगो और उसके साथी नीरज पटेल की मौत हो गई। दोनों हाईटेंशन लाइन की चपेट में आ गए, जो उनके फ्लैट की बालकनी से मात्र 4 फीट की दूरी पर थी। घटना के समय दिव्यांश और नीरज बालकनी में थे और दिव्यांश करंट की चपेट में आया, जिसे बचाने में नीरज भी झुलस गया।

पुलिस के अनुसार, देवास निवासी मनन सैंधव और दिव्यांश कानूनगो इंदौर के सेज यूनिवर्सिटी में बी.फार्मा फर्स्ट ईयर के छात्र थे और सिलिकॉन सिटी में किराये के फ्लैट में रहते थे। देवास के ही नीरज पटेल, जो प्राइवेट नौकरी करता था, उनसे मिलने आया था। मनन ने बताया कि घटना के समय वह किचन में रोटी गर्म कर रहा था। अचानक दिव्यांश की चीख सुनाई दी और नीरज भी चीखने लगा। जब मनन उन्हें देखने पहुंचा, तो उसने देखा कि दिव्यांश हाईटेंशन लाइन से चिपका हुआ था और नीरज उसे बचाने की कोशिश में करंट की चपेट में आ गया था।

मनन ने बताया, “मैंने दौड़कर उन्हें बचाने की कोशिश की, लेकिन मुझे भी बिजली का झटका लगा और मैं गिर गया। शायद अर्थिंग मिल जाने से मेरी जान बच गई। जब मुझे होश आया तो मैंने देखा कि दोनों दोस्तों की मौत हो गई है। हाईटेंशन लाइन बालकनी से 4 फीट दूर है, संभव है कि लाइन ने दिव्यांश को अपनी तरफ खींच लिया हो।”

घटना के बाद पुलिस ने शवों का पोस्टमॉर्टम कराया और मामले की जांच शुरू की। राऊ पुलिस टीआई राजपाल सिंह राठौर ने कहा कि तकनीकी टीम से घटनास्थल की जांच करवाई जाएगी और मल्टी में हाईटेंशन लाइन पास से जाने की जांच के बाद जिम्मेदारों के खिलाफ केस दर्ज किया जाएगा।

इस हादसे के बाद बिजली कंपनी की ओर से अभी तक कोई बयान नहीं आया है। हादसे में घायल मनन सैंधव की हालत अब स्थिर है। दिव्यांश के पिता मनोज कानूनगो पत्रकार हैं और दिव्यांश देवास के कमलापुर का रहने वाला था, जबकि नीरज पटेल भटूनी विजयागंज मंडी, देवास का निवासी था।

san thome school
Sneha
sandipani
little cry
Back to top button