देवासन्यायालय

शिक्षक, ज्ञान दाता है, मार्गदर्शक है और उससे बड़कर भगवान हैं- प्रभात कुमार मिश्रा

देवास। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण देवास एवं इनोवेटिव पब्लिक स्कूल द्वारा श्री प्रभात कुमार मिश्रा प्रधान न्यायाधीश जिला न्यायालय देवास के मुख्य आतिथ्य एवं श्रीमती निहारिका सिंह ( सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण देवास ) के मार्गदर्शन में जिला स्तरीय शिक्षक अभिनन्दन समारोह का आयोजन किया गया।

कार्यक्रम में विशिष्ठ अतिथि के रुप में राजेश खत्री अध्यक्ष अशासकीय शिक्षण संस्था संचालक संघ देवास, चंद्रपाल सिंह सोलंकी सचिव अभिभाषक संघ देवास प्रमुख रुप से उपस्थित थे।

प्रधान जिला न्यायाधीश प्रभात कुमार मिश्रा की मंशानुसार जिला न्यायलय द्वारा पहली बार शिक्षक सम्मान समारोह का आयोजन न्यायालय परिसर से बाहर अशासकीय विद्यालय इनोवेटिव पब्लिक स्कूल में  किया गया। इस कार्यक्रम की प्रमुख विशेषता ये रही कि जिला मुख्यालय से 70 किलोमीटर दूर से ग्रामीण क्षेत्रों में कार्य करने वाले दिव्यांग शिक्षक शिक्षिकाओं को सम्मानित किया गया साथ ही साथ जिले के वो प्राथमिक , माध्यमिक , एवं उच्चतर माध्यमिक शिक्षक जो अपनी उत्कृष्ट सेवा कही न कही पर्दे के पीछे रहकर करते हैं उन्हें विशेष रूप से सम्मानित किया गया । जिसमे शिक्षा , खेल एवं कला जगत के शिक्षक सम्मानित हुए । सम्मानित होने वाले शिक्षक शिक्षिकाओं में दिव्यांग श्रेणी में दीपाली मिरजकर (वरिष्ठ शिक्षिका ) चिमनाबाई उ मा वि देवास ) , जहीन बानो खान (प्राथमिक शिक्षिका), गारा खेड़ी , सुनील डावर (प्राथमिक शिक्षक ) ग्राम कटक्या (पिपरी संकुल ), वरिष्ठ शिक्षकों में अनिल सोलंकी (प्राचार्य शा .उ .मा .वि सिंगावदा), प्रसुन्न पंड्या (वरिष्ठ शिक्षक (गणित), चिमनाबाई उ मा वि देवास, मिर्ज़ा मुशाहिद बैग (खेल शिक्षक ना वि म क्र 1 देवास ), ज्योति देशमुख (प्राचार्य स्कॉलर्स अकादमी देवास), सुधीर टोप्पो (खेल प्रशिक्षक हॉकी फीडर केंद्र देवास ), वकार शेख (कला शिक्षक बी सी जी स्कूल देवास ), अर्चना वर्मा (शिक्षिका मा वि महांकाल कॉलोनी) सम्मानित हुए । श्री प्रभात कुमार मिश्रा ने अपने उद्बोधन में कहा कि बच्चों को अपने शिक्षक शिक्षिका एवं माता-पिता का आदर सम्मान करना चाहिए साथ ही विद्यार्थियों को अनुशासन में रहकर अपना लक्ष्य निर्धारित करते हुए आगे बढ़ते रहना चाहिए, आपने उपस्थित विद्यार्थियों से मोबाइल फोन के सही उपयोग और यातायात के नियमों के पालन करने का अनुरोध किया।

 इस अवसर पर राजेश खत्री ने गुरुओं के समाज कल्याण में मुख्या भूमिका की बात कही।चंद्रपाल सिंह सोलंकी ने देश के विकास में सभी गुरुओं के योगदान की सराहना की। इस अवसर पर प्रमुख रुप से न्यायाधीशगणों में मनीष ठाकुर एडीजे प्रथम ,यशपाल सिंह रजिस्ट्रार ज़िला न्यायालय, अज़हर अंसारी, आफरीन यूसुफजई , प्रियांशु पांडे ,रोबिन दयाल ( जिला विधिक सहायता अधिकारी) के साथ साथ रामेश्वर पटेल , शब्बीर अहमद , दिनेश मिश्रा ,वारिस अली ( बागली ), सलीम शेख़, एडवोकेट राजेश जायसवाल , आदित्य दुबे ,बशीर शैख़ , आदिल पठान, जावेद खान, जावेद पठान, महेश सोनी, रईस शाह सहित विद्यालय के विद्यार्थीगण एवं समस्त स्टाफ उपस्तिथ थे। कार्यक्रम का संचालन सैयद सदाकत अली और शहनीला कुरैशी ने किया।आभार निहारिका सिंह सचिव जिला विधिक सेवा ने माना।

san thome school
Sneha
Back to top button