अपराधदेवास

आदिवासी व्यक्ति को चोरी के झूठे प्रकरण में फंसाने के खिलाफ जयस बिरसा ब्रिगेड ने पुलिस अधीक्षक को सौंपा ज्ञापन

देवास। जयस बिरसा ब्रिगेड के राकेश देवड़े ने बताया कि 302 बोरी सोयाबीन से भरा एक ट्रक देवास से चोरी हुआ था,जिसे औद्योगिक क्षेत्र देवास कि पुलिस ने गंधवानी से पकड़कर प्रेस नोट जारी किया था।

उक्त घटना के संबंध में जब आरोपी बनाए गए आदिवासी व्यक्ति के परिवार से जयस बिरसा ब्रिगेड के युवा मिले तो उन्होंने बताया कि वेयर हाउस पर मोहन हम्माली का काम करता है और वेयर हाउस के मालिक आशीष पिता सतीश खंडेलवाल उर्फ गटिया सेठ द्वारा फोन लगाकर मोहन को वेयरहाउस पर बुलवाया गया और कहा गया कि ट्रक खाली करना है, मोहन के मना करने के बावजूद जबरदस्ती उसे वेयर हाउस पर बुलवाया गया। तत्पश्चात तोल कांटे पर वजन करवाने के लिए मोहन को ट्रक लेकर भेजा गया और वही से देवास पुलिस द्वारा मोहन को पेसा कानून लागू अनुसूचित क्षेत्र की ग्राम सभा को सूचित किए बगैर गिरफ्तार कर लिया गया और उसके साथ मारपीट की गई।

उक्त पूरे प्रकरण में वास्तविक आरोपियों पर कार्यवाही ना करके गरीब आदिवासी मजदूर व्यक्ति पर कार्यवाही की गई है। ऐसे प्रकरणों को विगत दिनों देश की राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू ने संज्ञान में लिया था। ज्ञापन के माध्यम से मांग की गई है कि पूरे प्रकरण की निष्पक्ष जांच करके वास्तविक आरोपियों पर कार्यवाही की जावे तथा बेगुनाह आदिवासी व्यक्ति मोहन को रिहा किया जाए। इस अवसर पर करण नागवेल राष्ट्रीय क्रांति मोर्चा प्रदेश प्रभारी, प्रितम सिंह बामनिया, रवि गामड़, पप्पू सोलंकी, अनिल बरला, जयपाल कर्मा, अनारसिंग कर्मा, गंगाविशन कर्मा, नर्मदा प्रसाद कर्मा, सोभाराम कर्मा, हरलाल, तोरसिंग , सचिन इत्यादि उपस्थित रहे।

sandipani
little cry
Sneha
san thome school
Back to top button