देवासनगर निगम

अब सीवरेज कनेक्शन लेना अनिवार्य, नगर निगम करेगा चालानी कार्रवाई



– स्वच्छता की दिशा में बढ़ाए कदम, लें सीवरेज कनेक्शन
– माय देवास एप के माध्यम से भी कर सकते हैं आवेदन
– स्वयं के व्यय से चैंबर तक ले जाना होगी लाइन, साथ ही 250 रुपए पंजीयन शुल्क भी करवाना होगा जमा

देवास। शहर को प्रदूषण मुक्त बनाने में सीवरेज योजना महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है। इसके माध्यम से गंदा पानी चैंबरों में एकत्रित होकर ट्रीटमेंट प्लांट में पहुंचता है और वहां इस पानी को साफ किया जाता है। इस साफ पानी का उपयोग शहर के बाग-बगीचों में सिंचाई के साथ ही सड़कों की सफाई में काम आ रहा है। शहर के सभी 45 वार्डों में सीवरेज लाइन है, लेकिन अभी तक बड़ी संख्या में वार्डवासियों ने कनेक्शन नहीं लिए हैं। जिन्होंने कनेक्शन नहीं करवाए हैं, उन पर अब नगर निगम सख्ती से चालानी कार्रवाई करेगा।
सोमवार को नगर निगम में आयोजित बैठक में आयुक्त विशालसिंह चौहान ने बताया कि रहवासी अपने घरों के सीवरेज का कनेक्शन सीवरेज की मुख्य सीवरेज लाइन से अनिवार्य रूप से करवाए। नगर निगम ने सीवरेज कनेक्शन के लिए नियमित रूप से जागरूकता अभियान चलाकर रहवासियों से कनेक्शन लेने को कहा, लेकिन वर्तमान स्थिति में रहवासियों द्वारा सीवरेज कनेक्शन नहीं लिया जा रहा है। आयुक्त ने बताया कि जिस क्षमता के ट्रीटमेंट प्लांट बनाए गए हैं, उस क्षमता अनुसार तीनों ट्रीटमेंट प्लांट पर शहर के सीवरेज का पानी नहीं पहुंच पा रहा है, जिससे शहर में जिन एरियों में सीवरेज कनेक्शन नहीं हुए हैं, उन एरियों की नालियों में सीवरेज का पानी बह रहा है। जिसे अतिशीघ्र कनेक्शन करवाकर बंद किया जाना है। सीवरेज कनेक्शन प्रत्येक घर से होना अनिवार्य है। सीवरेज कनेक्शन नहीं लिए जाने पर चालानी कार्रवाई भी प्रस्तावित की जाएगी। आयुक्त श्री चौहान ने बताया कि शहरवासी माय देवास एप में आवेदन शुल्क जमा कर अपना सीवरेज कनेक्शन करवा सकते हैं। आयुक्त ने शहरवासियों से अपील की है कि अपने घरेलू सीवरेज का कनेक्शन डाली गई सीवरेज की लाइन से अनिवार्य रूप से कराना सुनिश्चित करें।

तीन जोन में ट्रीटमेंट प्लांट-
बिलावली में 12 एमएलडी क्षमता वाला, नंदानगर मेंढकीचक में 14 एमएलडी क्षमता वाला एवं सर्वोदय नगर में 22 एमएलडी क्षमता वाला ट्रीटमेंट प्लांट स्थापित है। यहां पानी साफ होकर शहर के बाग-बगीचों में पौधों को सिंचित करने में उपयोग किया जा रहा है। खेतों में भी किसान इस पानी का उपयोग कर रहे हैं।

शहर में 55 हजार कनेक्शन देना है-
सहायक यंत्री जगदीश वर्मा ने बताया कि शहर में सीवरेज योजना के अंतर्गत 55 हजार कनेक्शन होना है, लेकिन अब तक सिर्फ 17 हजार कनेक्शन ही हुए हैं। इनमें भी चार-पांच हजार लोगों ने ही 250 रुपए पंजीयन शुल्क जमा करवाया है। शहरवासियों को स्वयं के व्यय से चैंबर तक सीवरेज कनेक्शन करवाना है। इसके साथ ही पंजीयन शुल्क भी जमा करवाना है, ताकि उनके कनेक्शन की जानकारी रजिस्टर्ड हो सके। जिन्होंने कनेक्शन नहीं लिए हैं, उन पर अब चालानी कार्रवाई की जाएगी। शहर में स्वच्छता को ध्यान में रखते हुए शहरवासी सीवरेज कनेक्शन अवश्य करवाएं।

Sneha
san thome school
Back to top button