अपराधदेवास

आत्महत्या बदली हत्या में, कातिल निकली प्रेमिका

Rajoda school upto 10 july
wisdom school 14 july tak

देवास। औद्योगिक थाना क्षेत्र के अयोध्या बस्ती में एक व्यक्ति का शव घर के अंदर बल्ली पर लटका हुआ मिला था। घर का दरवाजा अंदर से बंद था इसिलिए पुलिस को लगा कि यह आत्महत्या का मामला है। लेकिन शरीर पर आई चोंटो के निशान व संदेहास्पद घटना स्थल को देखते हुए एवं डाक्टर द्वारा पीएम रिपोर्ट प्राप्त होने पर यह पाया गया कि किसी अज्ञात व्यक्तियों ने मिलकर संतोष का गला दबा कर हत्या कर उसे फांसी की फंदे पर लटका दिया है। मामले में संज्ञान लेकर पुलिस ने छानबीन शुरु की और आज सुबह पुलिस ने इस हत्या कांड का खुलासा किया है।

प्राप्त जानकारी अनुसार आरोपी ममता ने ही अपने प्रेमी संतोष (मृतक) की आत्महत्या की सूचना दी थी। ममता के प्रेम संबंध मृतक संतोष से लगभग 6-7 वर्ष से थे तथा सहआरोपी लखन से ममता के लगभग 6 माह से प्रेम संबंध थे। सभी अयोध्या बस्ती में पड़ोस में ही रहते हैं। संतोष आयसर कंपनी में मजदुरी का काम करता था। संतोष लॉकडाउन के चलते अपने घर गया हुआ था। लेकिन ममता संतोष को बार बार फोन कर मिलने के लिए बुला रही थी। उसके बाद संतोष देवास आया हुआ था। इसी दौरान ममता और संतोष के बीच बात न करने को लेकर हाथापाई हो गई। पहले संतोष पर डंडे से वार किये। इसी दौरान उसका अन्य प्रेमी लखन भी वहीं था । लखन ड्राइवरी का कार्य करता था। चूंकि बस्ती में घर पास पास थे तो झगड़े की आवाज सुनकर ममता का भाई महेन्द्र भी वहां पंहुचा और इन सभी ने मिलकर संतोष को मार डाला और मर्डर को आत्महत्या बताने के उद्देश्य से उसे फंदे पर लटका दिया। पुलिस को शक न हो इसके लिए मकान के चद्दर से चढ़कर अन्दर से दरवाजा बंद कर दिया। चद्दर उचकाने के बाद थे वह भी पुलिस ने जब्त किया है। लेकिन मकान की उंचाई अधिक न होने के कारण पुलिस की शंका आत्महत्या से हत्या पर पुख्ता हो गई। इस प्रकरण में ममता के पति अजबसिंह ने साक्ष्य छुपाने का प्रयास किया जिस पर पुलिस ने ममता के पति को इसमें आरोपी बनाया है। उसके पति अजबसिंह को मामले की जानकारी पता थी और वह लगातार जांच में साक्ष्य और जानकारी छूपा रहा था।
थाना प्रभारी प्रतिष्ठा राठौर ने बताया कि प्रेमिका ने अपने प्रेमी संतोष(मृतक) का एक अन्य प्रेमी लाखन, भाई महेन्द्र तथा प्रेमिका के पति अजब सिंह के साथ मिलकर कत्ल किया था। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, नगर पुलिस अधीक्षक व डीएसपी हैड क्वार्टर महोदय के निर्देशन में अयोध्या नगर में संतोष पिता नारायण सिंह उम्र 28 साल की आत्महत्या की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और मर्ग कायमी की थी, परन्तु औद्योगिक थाना क्षेत्र पुलिस द्वारा कार्यवाही कर 24 घंटे के अंदर ही आरोपी प्रेमिका ममता व उसका एक अन्य प्रेमी लखन, प्रेमिका का भाई महेन्द्र व प्रेमिका के पति अजब सिंह को गिरफ्तार कर न्यायालय भेजा गया। पुलिस ने बताया की मामले को लेकर विवेचना जारी है।

प्रकरण में थाना प्रभारी उ.पु.अ. प्रतिष्ठा राठौर , उप निरीक्षक श्रीपाल सिह परिहार, सउनि पर्वत सिह परिहार, प्रआरक्षक मनोज पटेल , आरक्षक अर्पित , आरक्षक सतीष सिह सिकरवार, महिला आरक्षक नेहा ठाकुर , महिला आरक्षक प्रिया शर्मा , नगर सैनिक तेजसिह मण्डलोई का सराहनीय कार्य रहा। इस सराहनीय कार्य हेतु पुलिस अधीक्षक कृष्णावेणी देसावतु ने पुरी टीम को 10 हजार रुपयों के केश रिवार्ड से पुरूस्कृत करने की घोषणा की है।

Royal Group
Sneha

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button

Adblock Detected

कृपया Adbloker बंद करें और क्रोम ब्राउजर मे ही ओपन करें