देवासपुलिस

420 के केस में मुंबई से महिला को लाकर अवैधानिक रूप से रखा, 16 लाख रुपए की मांग की, शिकायत होने पर सब इंस्पेक्टर और टीआई सस्पेंड

देवास लाइव। कोतवाली थाना प्रभारी उमराव सिंह और महिला सब इंस्पेक्टर कुसुम गोयल को एक मामले में निलंबित कर दिया गया है। आरोप है कि कुसुम गोयल ने मामले के निपटारे के लिए 16 लाख रुपए की मांग की थी।

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार 22 जनवरी को महाराष्ट्र के ठाणे जिले के नवपाड़ा पुलिस थाना क्षेत्र से एक महिला माधुरी तमसे को कोतवाली में पदस्थ सब इंस्पेक्टर कुसुम गोयल ने जाकर हिरासत में लिया। बताया जा रहा है सब इंस्पेक्टर अपने साथ थाना प्रभारी की सील लेकर गई थी और नवपाड़ा थाने में सील लगाकर इसकी सूचना भी दी। महिला को कोतवाली थाने के पास स्थित महिला परामर्श केंद्र में रखा गया और 28 जनवरी तक गिरफ्तारी नहीं दिखाई गई। इसके बाद महिला के दुबई में रहने वाले भाई ने दूतावास के माध्यम से शिकायत दर्ज करवाई और डीजीपी तक यह मामला पहुंचा। इसके बाद पुलिस अधीक्षक डॉ शिवदयाल सिंह ने महिला सब इंस्पेक्टर कुसुम गोयल और लापरवाही बरतने पर थाना प्रभारी उमराव सिंह को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया।

सब इंस्पेक्टर का रिकॉर्ड पहले से खराब
बताया जा रहा है कि सब इंस्पेक्टर कुसुम गोयल इस मामले में महिला से 16 लाख रुपए की मांग कर रही थी। इसके पहले कुसुम गोयल टोंक कला चौकी प्रभारी थी तब भी इन पर केस डायरी गायब करने का आरोप लग चुका है।

पुणे की रवानगी डाल कर गई थी महिला सब इंस्पेक्टर
पुलिस सूत्रों के अनुसार सब इंस्पेक्टर कुसुम गोयल पुणे के लिए रवानगी डाल कर गई थी जिसके बाद वे गोवा और फिर मुंबई के पास स्थित ठाणे पहुंची और महिला को हिरासत में लेकर आ गई। इस दौरान उनके साथ एक आरक्षक भी गया था। थाना प्रभारी को 25 जनवरी को इस बात की सूचना मिली और उन्होंने महिला को कोर्ट में पेश करने के लिए कहा। इसी दौरान महिला के दुबई में रहने वाले भाई ने देवास के स्थानीय वकील पंकज पंड्या और दूतावास के माध्यम से डीजीपी को शिकायत करवाई। पूरे मामले की गंभीरता को देखते हुए सब इंस्पेक्टर और टीआई को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया।

san thome school
Sneha

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Back to top button