देवास

यूजीसी ने देवास की अमलतास यूनिवर्सिटी को डिफॉल्टर घोषित किया

लोकपाल की नियुक्ति नहीं होने पर हुई कार्रवाई, मध्यप्रदेश की सबसे ज्यादा यूनिवर्सिटीज पर गिरी गाज

देवास लाइव. यूजीसी ने देवास स्थित अमलतास यूनिवर्सिटी सहित देश भर की 157 यूनिवर्सिटीज को डिफॉल्टर घोषित कर दिया है। अमलतास यूनिवर्सिटी मेडिकल, फार्मेसी, नर्सिंग और पेरामेडिकल के कोर्सेज करवाती है। यह कार्रवाई यूनिवर्सिटीज द्वारा लोकपाल नियुक्त नहीं करने के कारण की गई है, जिससे मध्यप्रदेश की 16 यूनिवर्सिटीज पर गाज गिरी है।

यूजीसी (यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन) ने देवास स्थित अमलतास यूनिवर्सिटी सहित देश भर की 157 यूनिवर्सिटीज को डिफॉल्टर घोषित कर दिया है। इनमें से 108 सरकारी, 47 प्राइवेट और 2 डीम्ड यूनिवर्सिटीज शामिल हैं। यह कार्रवाई इन यूनिवर्सिटीज में लोकपाल नियुक्त नहीं किए जाने के कारण की गई है।

मध्यप्रदेश में सबसे अधिक यूनिवर्सिटीज को डिफॉल्टर घोषित किया गया है, जिसमें एमपी की 16 यूनिवर्सिटीज शामिल हैं। इसके बाद राजस्थान की 14 और उत्तर प्रदेश की 12 यूनिवर्सिटीज का नंबर आता है। पश्चिम बंगाल की 10 सरकारी यूनिवर्सिटीज को भी डिफॉल्टर घोषित किया गया है।

Sneha
san thome school
Show More
Back to top button