देवासप्रशासनिक

मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने नेमावर में जल गंगा अभियान के तहत नर्मदा घाट की साफ-सफाई की, पांच लडडू मंदिर और श्री सिद्धेश्वर महादेव मंदिर का होगा जीर्णोद्वार


देवास, 09 जून 2024: मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने आज देवास जिले के नेमावर में जल गंगा संवर्धन अभियान के तहत आयोजित कार्यक्रम में सहभागिता की। उन्होंने नर्मदा नदी घाट पर पूजा-अर्चना करने के पश्चात घाट की साफ-सफाई की। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में 05 जून से 16 जून तक गंगा दशहरा के अवसर पर जल गंगा संवर्धन अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान का उद्देश्य नदी, नालों और ऐतिहासिक एवं पारम्परिक जल संरचनाओं, तालाब, झील, कुंआ, बावड़ी आदि का संरक्षण और पुनर्जीवन करना है। इस दौरान विधायक श्री आशीष गोविंद शर्मा, महंत श्री राम स्वरूप शास्त्री जी महाराज, महंत श्री विठ्ठलदास जी महाराज, महंत श्री भगवत दास जी महाराज, नगर परिषद अध्यक्ष, कलेक्टर श्री ऋषव गुप्ता, पुलिस अधीक्षक श्री संपत उपाध्याय, सीईओ जिला पंचायत श्री हिमांशु प्रजापति, अपर कलेक्टर प्रवीण फुलपगारे, एसडीएम खातेगांव सुश्री प्रिया चंद्रावत, एसडीएम कन्नौद श्री प्रवीणकुमार सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण व बड़ी संख्या में क्षेत्रवासी उपस्थित रहे।



पांच लडडू मंदिर स्थल को संरक्षित किया जाएगा

मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने ग्राम तुरनाल में हंडिया बैराज डेम बनने से प्रभावित पांच लडडू मंदिर स्थल को संरक्षित करने की घोषणा की। यह स्थल भगवान परशुराम द्वारा अपने माता-पिता के पिंडदान के लिए प्रसिद्ध है। मुख्यमंत्री ने कहा कि पांच लड्डू स्थान को विकसित कर अद्भुत बनाया जाएगा और इसके लिए आवश्यक धनराशि उपलब्ध कराई जाएगी। साथ ही, उद्योग भी लगाए जाएंगे और प्रदेश में गौशालाओं को विकसित करने के लिए भी राशि दी जाएगी।

श्री सिद्धेश्वर महादेव मंदिर का जीर्णोद्वार किया जाएगा

मुख्यमंत्री ने नेमावर स्थित श्री सिद्धेश्वर महादेव मंदिर का जीर्णोद्वार करने का भी वादा किया। उन्होंने मंदिर में पूजा-अर्चना कर प्रदेश की सुख-समृद्धि की कामना की। विधायक श्री आशीष शर्मा ने बताया कि नर्मदा नदी में स्नान से कई जन्मों के पापों से मुक्ति मिलती है और इसे शुद्ध बनाने के लिए निरंतर प्रयास किए जाएंगे।

जल संरचनाओं के जीर्णोद्वार पर जोर

मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने बताया कि देवास जिले में लगभग 05 करोड़ 65 लाख रुपए की राशि से 3078 जल संरचनाओं के जीर्णोद्वार का कार्य चल रहा है। नगरीय क्षेत्र में 01 करोड़ 78 लाख रुपए की राशि से 650 संरचनाओं पर कार्य हो रहा है, जबकि 01 करोड़ 68 लाख रुपए की राशि से 2400 से अधिक जल संरचनाओं का गहरीकरण व साफ-सफाई की जा रही है। जिले में 196 पुराने तालाब, 105 स्टॉप डेम, 172 कुएं-बावड़ियां व अन्य जल स्त्रोतों पर कार्य किया जा रहा है। रूफ हार्वेस्टिंग सिस्टम के माध्यम से 250 स्थानों पर बारिश के पानी के संग्रहण के लिए कार्य किया जा रहा है। नर्मदा नदी के साथ ही क्षिप्रा, कालीसिंध सहित अन्य नदियों को शुद्ध बनाने का कार्य भी इस अभियान के माध्यम से किया जाएगा।

नेमावर में पंच समाधि मंदिर के दर्शन

मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने नेमावर में दंडी स्वामी आश्रम में आलोनी बाबा के शिष्य की पंच समाधि मंदिर के दर्शन और पूजन किया। उन्होंने आश्रम स्थित मंदिर में भगवान भोलेनाथ और मां नर्मदा की पूजा अर्चना कर प्रदेशवासियों के कल्याण की मंगल कामना की। उन्होंने संत श्री सच्चिदानन्देन्द्र सरस्वती जी से भी भेंट कर उनका आशीर्वाद लिया। इस अवसर पर विधायक खातेगांव श्री आशीष शर्मा सहित अन्य जनप्रतिनिधि भी उपस्थित थे।

जल संरक्षण के महत्व पर जोर

मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने कहा कि नेमावर का नर्मदा नदी का घाट बहुत पवित्र है। हमारी सरकार जल संरक्षण के लिए जल गंगा संवर्धन अभियान चला रही है। उन्होंने कहा कि हमारे यहां सभी तीज त्योहारों का महत्व है, जिन्हें हम ऋतुओं के हिसाब से मनाते हैं। इस अभियान के माध्यम से प्रदेश की सभी नदियों को शुद्ध बनाने का कार्य किया जा रहा है, जिससे प्राकृतिक जल संसाधनों का संरक्षण और पुनर्जीवन संभव हो सके।

little cry
Sneha
sandipani
san thome school
Back to top button