अपराधदेवास

जानलेवा साइबर फ्रॉड, फर्जी साइबर सेल की धमकी के बाद 23 वर्षीय युवक ने की आत्महत्या, जन्मदिन के दी फाँसी लगाकर दी जान,

पिता पार्टी का सामान लेकर पहुँचे थे घर, खुशी बदली मातम में,लेटर में लिखा कि अब मैं आपको शर्मिंदा नही होने दूंगा, जिसके लिए मैं आपसे दूर जा रहा हु

देवास/सोनकच्छ. (Ankit Jajoo) सोनकच्छ थान्तर्गत ग्राम बावई में शुक्रवार शाम को 23 वर्षीय युवक आकाश पिता देवीसिंह ने फाँसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पिता और परिजन रात को सिविल अस्पताल लेकर पहुँचे, जहां सुबह पोस्टमार्टम किया जाकर शव को परिजन के सुपुर्द किया गया।
प्रथम दृश्यता में मृतक के पिता देवीसिंह के अनुसार युवक आकाश के पास मोबाईल साइबर क्राइम इन्वेस्टिगेशन सेल दिल्ली से एक लैटर आया, जिसमे आकाश को किसी लड़की से फोन पर छेड़छाड़ व न्यूज़ वीडियो कॉल व फोटो बनाने का दबाव बनाया गया है ऐसा करने पर 2 साल की सजा और 50 हजार तक का जुर्माना करने का जिक्र किया गया। जिसके बाद इस मामले की जानकारी और अपने फोन का पासवर्ड एक पेपर पर लिखने के बाद आकाश ने कॉपी के पन्ने पर मोबाईल का पासवर्ड लिखा जो कि उसके साथ हुई घटना की पूरी जानकारी का संकेत देता नजर आ रहा है। हालांकि की यह स्पष्ठ नही है कि आकाश ने उसके हाथ से लिखा है इसकी पुष्टि हैंडराइटिंग एक्सपर्ट के माध्यम से ही कि जाएगी।

जन्मदिन था तो पिताजी कचोरी और केक लेकर पहुँचे घर मिला लटका हुआ शव

पिता देवीसिंह ने बताया कि वो जब घर पहुँचे तो आकाश की माता से पूछा कि आकाश कहा है तो बताया कि 4 बजे से कही गया है फोन भी नही उठा रहा है, दोस्तो से बात की तो उनका भी यही कहना था, उसके बाद पिता ने घर से फ़ोन लगाया तो मोबाईल बजने की आवाज ऊपर वाले कमरे से आई, पिता देवीसिंह ने ऊपर जाकर देखा तो चद्दर शेड की बल्ली पर रस्सी बांधकर उसने फाँसी लगा ली थी, पिता ने और परिवार के अन्य लोगो ने दराते से रस्सी काटकर सिविल अस्पताल लाए अस्पताल में ड्यूटी डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया, जिसके बाद पुलिस को सूचना दी। इसके पूर्व पिता सोनकच्छ से कचोरी व केक लेकर गए थे शाम को जन्मदिन मनाने के परिवार व दोस्त भी आने थे पर खुशी का अवसर मातम में बदल गया।

फर्जी लेटर और व्हाट्सएप पर मैसेज बना मौत का कारण – शुक्रवार को सुबह 10:41 बजे दिन में को जब फर्जी लेटर आकाश के मोबाईल पर 7828777207 नम्बर से आया साथ ही उसमें लिखा था कि बेटा फ़ास्ट पेमेंट डाल दे और स्क्रीन शार्ट भेज देना, कम्प्लेन को क्लोस कराना है या फिर 3 महीने 7 दिन के लिए जेल जाना। तेरे को बचाना है या कम्प्लेन को ऑनलाइन कर दु। मामले में पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर लिया है परिजन के कथनों के आधार पर कार्यवाही की जाएगी इसके साथ ही सुसाइड लेटर, फोन जप्त कर लिया है। सुबह पोस्टमार्टम के बाद अंतिम संस्कार किया गया, एफएसएल की टीम भी कमरे की जांच करेगी।

Sneha
Ebenezer
central malwa school
Back to top button