देवासधर्म संकृति

देववसिनी द्वारा आयोजित माता टेकरी की महाआरती रच रही इतिहास, हजारों लोग कर रहे हैं भागीदारी

देवास: देववसिनी द्वारा माता टेकरी पर आयोजित मां चामुंडा और तुलजा भवानी की महाआरती इतिहास रच रही है। शनिवार और रविवार को आयोजित होने वाली इस महाआरती में भक्तों की भारी भीड़ उमड़ रही है। अन्य दिनों में भी दर्शनार्थियों की संख्या में वृद्धि देखी गई है।

ऐतिहासिक और अविस्मरणीय:

संस्था देववासिनी द्वारा आयोजित इस महाआरती को इतिहास रचने वाली, अविस्मरणीय और ऐतिहासिक जैसी उपमाओं से विभूषित किया जा रहा है। महाआरती में शामिल होने वाले भक्तों का कहना है कि यह श्रृंखला सदियों तक याद रखी जाएगी।

नियमित महाआरती की मांग:

महाआरती में शामिल होने वाले भक्त और मातृशक्ति इस महाआरती को नियमित रूप से आयोजित करने की मांग कर रहे हैं।

महाआरती की शुरुआत:

6 दिसंबर, शौर्य दिवस से सांसद श्री महेंद्र सिंह सोलंकी के संरक्षण, श्री अशोक खंडेलिया अध्यक्षता और सचिव श्री महेश चौहान द्वारा देववासिनी के कार्यकर्ताओं की सहायता से टेकरी पर महाआरती की शुरुआत हुई थी।

भक्तों की भारी भीड़:

दो दिवसीय महाआरतियों में नगर के विभिन्न वार्डों से हजारों की संख्या में भक्त टेकरी पर उमड़ रहे हैं। महाआरती के बाद भंडारे की महाप्रसादी ग्रहण कर प्रस्थान कर रहे हैं।

अन्य दिनों में भी दर्शनार्थियों की बढ़ती संख्या:

अन्य दिनों में भी टेकरी पर मां के दर्शनार्थियों की संख्या में वृद्धि देखी गई है। नगरवासियों में अपने घर, परिवार में आगंतुक मेहमानों और अतिथियों को भी टेकरी पर मां के दर्शनार्थ ले जाने का चलन बढ़ रहा है।

धार्मिक और आध्यात्मिक वातावरण:

देववासिनी की महाआरती से नगर में धार्मिक, आध्यात्मिक और सनातनी वातावरण निर्मित हो रहा है।

भागीदारी:

विगत शनिवार को वार्ड क्रमांक 2 और 38 तथा रविवार को वार्ड क्रमांक 9 और 11 के सनातनी भक्तों ने बड़ी संख्या में हिस्सा लिया।

देववसिनी द्वारा आयोजित माता टेकरी की महाआरती नगरवासियों के लिए एक महत्वपूर्ण धार्मिक आयोजन बन गया है। यह महाआरती न केवल धार्मिक भावनाओं को जागृत कर रही है, बल्कि नगर में धार्मिक और आध्यात्मिक वातावरण भी निर्मित कर रही है।

san thome school
Sneha
Back to top button