देवासनगर निगम

देवास: शहर बन गया कचरा घर, अब सफाई इंतजामों पर महापौर गीता दुर्गेश अग्रवाल ने लिया एक्शन

शहर की सफाई व्यवस्था को लेकर महापौर गीता दुर्गेश अग्रवाल ने सख्त कदम उठाए हैं। पिछले कई दिनों से सफाई को लेकर मिल रही शिकायतों के बाद उन्होंने वार्ड 39 में औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान 31 सफाई मित्रों में से 7 बिना सूचना के अनुपस्थित पाए गए, जिसके बाद महापौर ने 6 सफाई मित्रों की सेवा समाप्त करने और 1 को निलंबित करने के निर्देश दिए। साथ ही, 2 स्वास्थ्य निरीक्षकों को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया।

महापौर श्रीमती अग्रवाल और विधायक व महापौर प्रतिनिधि दुर्गेश अग्रवाल ने शुक्रवार सुबह वार्ड क्रमांक 39 के शुक्रवारिया हाट पर सफाई व्यवस्था का निरीक्षण किया। यहां 7 सफाई मित्र अनुपस्थित पाए गए, जिसके बाद महापौर ने प्रभारी स्वास्थ्य अधिकारी जितेंद्र सिसौदिया को निर्देश दिए कि अनुपस्थित सफाई मित्रों की सेवा समाप्त और निलंबन की कार्रवाई की जाए।

महापौर ने स्पष्ट किया कि सफाई व्यवस्था में किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने नगर निगम कमिश्नर से भी शहर की सफाई व्यवस्था पर सख्त निर्देश दिए हैं कि जो कर्मचारी लापरवाही कर रहे हैं, उन पर कार्रवाई की जाए।

हालांकि, महापौर की इस कार्रवाई को लेकर भी आलोचना हो रही है। जब पूरा शहर कचरा घर बन गया, तब महापौर कार्रवाई के लिए बाहर निकली हैं। इस देरी से की गई कार्रवाई पर भी सवाल उठ रहे हैं। महापौर के निरीक्षण के दौरान वार्ड पार्षद बाली घोसी, निगम प्रभारी कार्यपालन यंत्री इंदुप्रभा भारती, सहायक यंत्री जगदीश वर्मा, उपयंत्री विजय जाधव, स्वच्छता निरीक्षक भूषण पंवार, ओमप्रकाश पथरोड और दरोगा विकास सांगते उपस्थित थे।

Sneha
san thome school
Show More
Back to top button