देवाससोनकच्छ

न्यायालय ने घायल तेंदुए से छेड़छाड़ करने वालों को जेल भेजा
लोगों ने की थी सवारी, दो लोगों को किया था गिरफ्तार

वन्य प्राणी संरक्षण अधिनियम के तहत मामला दर्ज
सोनकच्छ। ग्राम इकलेरा में कालीसिंध नदी के तट पर पिछले साल 29 अगस्त को बीमार अवस्था में तेंदुए की सवारी करने व उसके साथ छेड़छाड़ करने वाले दो ग्रामीणों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।ग्रामीणों ने तेंदुए से खूब मस्ती की थी
उल्लेखनीय है कि इकलेरा के समीप बीमार हालत में मिले तेंदुए को देखने के लिए बड़ी संख्या में ग्रामीण इकट्ठा हो गए थे। इस दौरान तेंदुआ किसी पालतु मवेशी की तरह व्यवहार कर रहा था व ठीक से चल भी नहीं पा रहा था। ऐसे में ग्रामीणों ने उसके साथ खूब मस्ती की थी। किसी ने सेल्फी ली थी तो किसी किसी ने उसकी सवारी कर ली। सूचना पर वन परिक्षेत्र अधिकारी देवेंद्रसिंह चौहान के निर्देशन में रेस्क्यू दल द्वारा तेंदुए को रेस्क्यू कर दौलतपुर रेस्टहाउस में लाकर रखा गया था। इसके बाद उप वन मंडलाधिकारी संतोष कुमार शुक्ला के मार्गदर्शन में उपचार किया गया। तीन माह उपचार बाद तेंदुए को खिवनी अभयारण्य में ले जाकर छोड़ा गया।उसे हांकने का वीडियो हुआ था वायरल
उधर तेंदुए की सवारी, उसे हांकने का वीडियो वायरल हुआ था। वन्य प्राणी संरक्षण अधिनियम 1972 के तहत इस तरह की हरकत गैरकानूनी होने से वायरल वीडियो अनुसार आरोपियों की तलाश की गई। साथ ही दोनों आरोपियों के खिलाफ वन्य प्राणी संरक्षण अधिनियम 1972 की धारा 2(16B) 9,50,51 के अंतर्गत वन अपराध प्रकरण दर्ज किया गया।शिनाख्त के बाद दोषियों को दबोचा
जांच के दौरान दो आरोपियों की शिनाख्त कर आरोपी पंकज पिता इंदरसिंह पाटीदार व अंकित पिता कैलाश चौधरी को गिरफ्तार किया गया। दोनों को गुरुवार को टोंकखुर्द न्यायालय में पेश किया गया जहां ने न्यायाधीश ने दोनों को जेल भेज दिया गया।

san thome school
little cry
Sneha
sandipani
Back to top button