देवास

देवास जिले के आदिवासी अंचल में बच्चों के धर्मांतरण का मामला, बाल आयोग के अध्यक्ष ने की जांच

देवास लाइव। मध्य प्रदेश के देवास जिले की आदिवासी बहुल बागली तहसील में संचालित क्रिश्चियन मिशनरीज के हॉस्टल में धर्मांतरण और हिंदू बच्चों का उत्पीड़न का मामला सामने आया है।

राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग के अध्यक्ष प्रियंक कानूनगो ने इन संस्थाओं का दौरा किया और यहां पर कानून का खुला उल्लंघन पाया। यहां पर बच्चों से घास कटवाई जाती है और झाड़ू पोछा कराया जाता है, यहां तक की टॉयलेट भी साफ करवाए जाते हैं। इन संस्थानों में विदेशी फंडिंग और उच्च राजनीतिक संपर्क के प्रमाण भी मिले हैं। जिस आधार पर धर्मांतरण का काम किया जाता है। राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग के अध्यक्ष अब मध्य प्रदेश सरकार के मुख्य सचिव को नोटिस जारी कर विधिवत कार्रवाई करेंगे। इस आशय की जानकारी वीडियो समेत उन्होंने ट्विटर पर साझा की है।

Sneha
Ebenezer
central malwa school
Back to top button