देवासप्रशासनिक

देवास में चलित रसोई में अनियमितताएं: घटिया खाना और कालाबाजारी का पर्दाफाश



देवास। नगर निगम के चलित रसोई में बड़े पैमाने पर अनियमितताएं सामने आई हैं। दिल्ली के ठेकेदार ने इंदौर से घटिया खाना लाकर बंद चलित रसोई को चालू करने की नौटंकी की। जिलाधीश ऋषव गुप्ता के हस्तक्षेप के बाद खाद्य निरीक्षक ने सैंपल लिया और पाया कि सब्जी में पानी की मात्रा अधिक और गुणवत्ता खराब थी।

सूत्रों के अनुसार द्वारा दिए जा रहे एक माह में 25 क्विंटल गेहूं की कालाबाजारी की गई। प्रति क्विंटल गेहूं में 4000 लोगों का भोजन बन सकता है, परंतु यहां मात्र 100-150 लोगों को ही खाना दिया जा रहा था। शेष गेहूं खुले बाजार में बेचा गया।

सामाजिक कार्यकर्ता सैयद सादिक अली की शिकायत के बाद ठेकेदार द्वारा लाया गया खाना गरीबों को परोसा गया, जिसकी गुणवत्ता बेहद घटिया थी। खाद्य निरीक्षक निर्मला जी ने बताया कि सब्जी में पानी की अत्यधिक मात्रा है और गुणवत्ता अच्छी नहीं है।

कमिशन के लालच में नगर निगम ने बाहरी संस्था को टेंडर दिया, जिससे राशन और बिल का गबन किया जा सके। इस भ्रष्टाचार की जानकारी मिलने पर कलेक्टर ने तुरंत कार्रवाई की।

यह मामला अब प्रशासन की निगरानी में है और दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की संभावना है।

san thome school
Sneha
little cry
sandipani
Back to top button