देवासप्रशासनिक

देवास जिले में फसल क्षति मुआवजा वितरण में घोटाला: अब तक 18 पटवारियों की सेवा समाप्त!


देवास, 20 मई 2024: देवास जिले में फसल क्षति मुआवजा राशि के वितरण में वित्तीय अनियमितता करने के आरोप में कुल 18 पटवारियों को सेवा से बर्खास्त कर दिया गया है। इनमें से 16 पटवारी कन्नौद, खातेगांव और सोनकच्छ अनुभाग के हैं, जिनकी सेवाएं संबंधित अनुभागीय अधिकारियों द्वारा समाप्त की गई हैं।


बर्खास्त किए गए पटवारियों की सूची:
* बंशीलाल डाबर
* प्यारसिंह सोलंकी
* अमित कुशवाह
* दिनेश सिसोदिया
* दिलीप यादव
* भैयालाल नरगावे
* महेन्द्र मण्‍डलोई
* नंद किशोर शर्मा
* अनिरूद्ध यादव
* अनिल धुर्वे
* रायसिंह देवड़ा
* विकास सरोठिया
* नवीन धीमान
* अर्जुन वर्मा
* रामोतार जोनवाल
* अजय चौधरी


पहले भी हो चुकी है कार्रवाई:
गौरतलब है कि फसल क्षति मुआवजा राशि के वितरण में वित्तीय अनियमितता के मामले में पहले भी कार्रवाई की जा चुकी है। पूर्व में दो पटवारियों और दो लिपिकों को भी सेवा से बर्खास्त किया गया था। बर्खास्त किए गए पटवारियों में अनिल मालवीय (तहसील टोंकखुर्द) और समरथलाल जांगड़े (तहसील टोंकखुर्द) शामिल हैं। साथ ही, सहायक ग्रेड तीन राहुल कर्मा (तहसील कार्यालय कन्नौद) और राहुल माली (तहसील कार्यालय सोनकच्छ) को भी सेवा से बर्खास्त कर दिया गया था।


यह कार्रवाई भ्रष्टाचार के खिलाफ एक सख्त संदेश है।
यह कार्रवाई भ्रष्टाचार में लिप्त सरकारी कर्मचारियों के लिए एक सख्त संदेश है। फसल क्षति मुआवजा राशि सरकार द्वारा किसानों को दी जाती है ताकि वे खराब फसल की वजह से हुए नुकसान से उबर सकें।

Sneha
little cry
san thome school
sandipani
Back to top button