अपराधदेवास

कुणाल हत्याकांड: जेल से मिली धमकी और गोली मार दी गई, चार पर हत्या का प्रकरण

देवास लाइव। देवास के जवाहर नगर चौराहे पर बुधवार को कुणाल बैरागी, निवासी विकास नगर, की गोली मारकर हत्या कर दी गई। संस्था राम-राम के सदस्य कुणाल बैरागी को पुरानी रंजिश के चलते कुछ बदमाशों ने निशाना बनाया।

FIR के अनुसार घटना का विवरण:

घटना की शुरुआत तब हुई जब कुणाल बैरागी के भाई कपिल बैरागी से मिलने आनंद मंसारे और उनके साथी जिला जेल देवास गए थे। कपिल बैरागी जेल में विचाराधीन कैदी हैं। मुलाकात के दौरान, जेल में राहुल पंवार ने कपिल बैरागी और उनके साथियों को धमकाया। राहुल पंवार ने लैंडलाइन फोन का उपयोग करते हुए धमकियां दीं और गालियां दीं, जिसमें उसने कहा कि वे लोग जेल से बाहर निकलते ही मारे जाएंगे।

जेल से निकलने के बाद, कुणाल बैरागी और उनके साथी स्कार्पियो (MP 11 T 2277) में सवार होकर जवाहर नगर होते हुए उनके घर जा रहे थे। जब वे जवाहर नगर चौराहे पर पहुंचे, तो अम्बरेश प्रशाद और उसके साथी भावेश झाला, शिव रघुवंशी, और टीम टीम बना उर्फ कृष्णपाल सिंह ने उनकी कार रोकी। शुभम जो गाड़ी चला रहा था, उसने कार रोक दी।

सबसे पहले कुणाल बैरागी गाड़ी से उतरे और बातचीत के लिए अन्य लोग भी उतरे। तभी अम्बरेश प्रशाद ने कुणाल को सीने पर गोली मार दी। अम्बरेश ने पिस्टल को लोड कर भागते-भागते गोली चलाई और हवाई फायर भी किया। घटना के बाद, कुणाल को घायल अवस्था में अपेक्स हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने करीब 20 मिनट के इलाज के बाद कुणाल उर्फ चीकू को मृत घोषित कर दिया।

कानूनी कार्रवाई:

प्राथमिक सूचना रिपोर्ट (FIR) के अनुसार, अम्बरेश प्रशाद, टीम टीम बना उर्फ कृष्णपाल सिंह, शिव रघुवंशी और भावेश झाला पर हत्या के आरोप में बीएनएस की धारा 103 और 3 (2) के तहत प्रकरण दर्ज किया गया है।

san thome school
Sneha
Show More
Back to top button