देवासशिक्षा

महाविद्यालय में संविधान दिवस पर हुआ व्याख्यान का आयोजन

महाविद्यालय में संविधान दिवस पर हुआ व्याख्यान का आयोजन

देवास। 26 नवम्बर 2022 को जिले के अग्रणी महाविद्यालय श्री कृष्णाजीराव पवार शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय देवास में संविधान दिवस के उपलक्ष्य में भारत लोकतंत्र की जननी विषय पर व्याख्यान का आयोजन किया गया। मुख्य वक्ता अंग्रेजी विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. एस.पी.एस.राणा ने अपने उदबोधन में बताया कि भारत का सबसे प्राचीन गणराज्य लिच्छिवि का 600 र्ई.पू. का हैं। वैदिक साहित्य, बौद्ध साहित्य के मठो में लोकतंत्रीय परम्पराओ का एवं तमिलनाडु के प्राचीन मंदिरों के शिलालेख में पंचायती व्यवस्था का उल्लेख मिलता हैं। साथ ही संविधान के विभिन्न महत्वपूर्ण पहलुओं पर विस्तृत प्रकाश डालते हुए उल्लेखित किया गया कि संविधान निर्माण में 2 वर्ष 11 माह 18 दिन का समय लगा जिसमें 395 अनुच्छेद, 22 भाग व 12 अनुसूचियॉ है। अध्यक्षीय उदबोधन में महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. आर.एस.अनारे ने बताया कि भारत का संविधान कई बुद्धिजीवियों की मेहनत का परिणाम  हैं जिसका हमे सम्मान करना चाहिए तथा संविधान प्रदत्त लोकतंत्र को मजबूत बनाने का प्रयास करना चाहिए। इस कार्यक्रम में डॉ. बी.एस.जाधव , डॉ. दीप्ति ढवले, डॉ. जरीना लोहावाला , डॉ. मनोज सोनगरा, डॉ. सत्यम सोनी, डॉ. मधुकर ठोमरे, डॉ. रश्मि ठाकुर,डॉ. नुसरत सुल्ताना, डॉ. ममता झाला, डॉ. जया गुरनानी, डॉ. संग्रामसिंह साठे, डॉ. कैलाश यादव, डॉ. ओ.पी.शर्मा, डॉ. सचिन दास, डॉ. टीना धारीवाल, डॉ. माया ठाकुर, जितेन्द्रसिंह राजपूत, डॉ. श्यामसुंदर चौधरी, एवं डॉ. हेमन्त मण्डलोई उपस्थित रहे। विद्यार्थियों की गरिमामय उपस्थिति रही । कार्यक्रम का संचालन डॉ. लता धुपकरिया ने किया एवं आभार राजनीति विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. आर.के.मराठा ने माना।

Sneha
Royal Group
Back to top button

Adblock Detected

कृपया Adbloker बंद करें और क्रोम ब्राउजर मे ही ओपन करें