देवासपुलिस

मुख्यमंत्री के आदेश के बाद जागी देवास पुलिस, जिलेभर में देर रात चलाया कांबिंग चेकिंग अभियान



देवास लाइव। पुलिस की कार्यशैली पर उठ रहे सवालों के बाद आखिरकार मुख्यमंत्री मोहन यादव के आदेश ने जिले में पुलिस को सक्रिय कर दिया है। पिछले महीने से लगातार हो रही चोरियों की घटनाओं के चलते शहर में आमजन के मन में असुरक्षा की भावना घर कर चुकी थी। पिछले 14 दिनों में ही 11 घरों के ताले टूट चुके हैं, जिससे न केवल आम लोग बल्कि सांसद महेंद्र सिंह सोलंकी जैसे नेता भी सुरक्षित नहीं महसूस कर रहे थे।

शहर में आए दिन नशेड़ी और हुड़दंगी देर रात तक हंगामा करते रहते हैं। बाहरी इलाकों में खड़ी कारों के कांच तोड़ने की घटनाएं भी आम हो चुकी हैं। चिन्हित ढाबों और होटलों में अवैध शराब परोसी जा रही है, लेकिन पुलिस द्वारा इन पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही थी। यह माना जा रहा है कि नेताओं और पुलिस के बीच लेन-देन का दबाव पुलिस की निष्क्रियता का कारण बना हुआ है।

मुख्यमंत्री मोहन यादव ने प्रदेश भर में कानून व्यवस्था सुधारने के निर्देश दिए थे, जिसके बाद देवास पुलिस ने देर रात जिले भर में सघन चेकिंग अभियान चलाया। इस अभियान में पुलिस अधीक्षक संपत उपाध्याय समेत जिले के सभी आला अधिकारी सम्मिलित हुए। पुलिस की इस कार्रवाई को मीडिया में सुर्खियां बनाने का प्रयास किया गया ताकि मुख्यमंत्री को यह संदेश पहुंच सके कि देवास पुलिस अब मुस्तैद हो गई है।

हालांकि, यह अभियान केवल दिखावे के तौर पर किया गया या वास्तव में पुलिस की कार्यशैली में कोई सुधार आया है, यह आने वाले समय में ही स्पष्ट हो पाएगा। फिलहाल देवास के निवासियों की सुरक्षा को लेकर अभी भी सवाल बने हुए हैं। पुलिस को चाहिए कि वह वास्तविक रूप से अपराध पर अंकुश लगाए और जनता में सुरक्षा का भरोसा वापस लाए।

Sneha
little cry
sandipani
san thome school
Back to top button