खातेगांवदेवासपुलिस

वीडियो: दलित की थाने में पिटाई का आरोप, दिग्विजय सिंह ने खातेगांव टीआई को बर्खास्त करने की मांग की, पुलिस बोली आरोप झूठे



देवास लाइव। सोशल मीडिया पर पंडित प्रदीप मिश्रा के संविधान बदलने संबंधी वीडियो के विरुद्ध पोस्ट करने पर एक आरोपी युवक की थाने में पिटाई करने का आरोप है। मामले में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने सोशल मीडिया पर पोस्ट कर टीआई के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है। वहीं पुलिस ने तुरंत खातेगांव टीआई सुनील शर्मा का बचाव भी किया।

https://youtu.be/t06cJwQ4o_4
वीडियो देखें 👆👆

क्या है पूरा मामला

दरअसल 6 मई को खातेगांव थाने में कुछ हिंदूवादी संगठन के कार्यकर्ताओं ने हरण गांव के राहुल बारवाल पर सोशल मीडिया के जरिए हिंदू भावनाओं को ठेस पहुंचाने का शिकायती आवेदन किया था। जिसके बाद राहुल को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था। आरोप है कि 10 मई को जमानत मिलने के बाद राहुल को खातेगांव थाने में टीआई की मौजूदगी में पहले से मौजूद हिंदूवादी संगठन के कार्यकर्ताओं ने जमकर मारपीट की। राहुल का आरोप है कि खातेगांव थाना प्रभारी सुनील शर्मा ने उसकी मूछें उखाड़ने का प्रयास किया और जातिगत शब्दों का उपयोग करते हुए अमानवीय व्यवहार किया।
मामले में राहुल, रामदेव और रामविलास के समर्थन में भीम आर्मी और अन्य संगठन के कार्यकर्ताओं ने खातेगांव पुलिस पर दुर्व्यवहार का आरोप लगाते हुए देवास में एसपी को ज्ञापन भी दिया था और टीआई समेत कई लोगों पर एट्रोसिटी एक्ट के तहत कार्रवाई करने की मांग की थी।



दिग्विजय सिंह ने सोशल मीडिया पर किया पोस्ट



पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने 17 मई को अपने सोशल मीडिया पर पोस्ट कर खातेगांव थाना प्रभारी पर कार्रवाई करने की मांग की है। थाना प्रभारी पर एससी एसटी एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज करने की मांग की है।

मामले में एडिशनल एसपी ग्रामीण सूर्यकांत शर्मा ने प्रेस नोट जारी करते हुए खातेगांव टीआई पर लगे आरोपों को बेबुनियाद बताया। उन्होंने कहा कि राहुल की मूछें उखाड़ने और जातिगत शब्द के संबंध में जो बातें सोशल मीडिया पर उठाई जा रही हैं वह एकदम असत्य बेबुनियाद और तथ्यों से परे हैं। राहुल की मेडिकल रिपोर्ट में भी डॉक्टरों की ओर से किसी प्रकार की चोट नहीं होना बताया गया है। पुलिस के पास एक वीडियो भी है जिसमें राहुल ने अपने कृत्य के लिए क्षमा याचना की और उस वीडियो में उसकी मूछें साफ और स्पष्ट दिख रही हैं।

Sneha
san thome school
Back to top button