देवासनगर निगम

जिन्हें प्रधानमंत्री आवास आवंटित किए, उन्होंने दे दिए किराए पर

दो भवनों में तो संचालित हो रहे थे प्राइवेट स्कूल
नगर निगम आयुक्त विशालसिंह चौहान ने दिए निरीक्षण के निर्देश, गलत पाए जाने पर आवंटन होगा निरस्त

देवास। प्रधानमंत्री आवास योजना में चाणक्यपुरी (मेंढकी) में हितग्राहियों के लिए आवासों का निर्माण करवाया गया था। जिनके नाम ये आवास आवंटित किए गए हैं, उनमें से कई लोगों ने इन्हें किराए पर दे दिया। दो भवनों में तो स्कूल संचालित किए जा रहे हैं। जैसे ही आयुक्त विशालसिंह चौहान के संज्ञान में आते ही निगम उपायुक्त एवं योजना के प्रभारी डॉ. पुनीत शुक्ला को तत्काल मौके का निरीक्षण किए जाने हेतु निर्देशित किया। उपायुक्त शुक्ला द्वारा मंगलवार को यहां निरीक्षण किया तो इस प्रकार की गड़बड़ी सामने आई। अब इनके खिलाफ कार्रवाई की जा रही है।

नगर निगम के उपायुक्त पुनीत शुक्ला मौके पर जांच करते हुए

उल्लेखनीय है कि चाणक्यपुरी में प्रधानमंत्री आवास योजना में हितग्राहियों की सुविधा के लिए आवास बनाए गए थे। इनका उपयोग उन्हें ही करना है, जिनके नाम इनका आवंटन है, लेकिन कुछ हितग्राहियों ने आवंटित भवन यहां किराएदार रख दिए हैं। उपायुक्त श्री शुक्ला ने जब निरीक्षण किया तो मौके पर कुछ आवासों में किराएदार मिले। इस पर उपायुक्त श्री शुक्ला ने किराएदारों को आवेदन करने के लिए कहा। यदि उनके द्वारा आवेदन किया जाता है तो उक्त भवन का आवंटन उन्हें ही निर्धारित राशि जमा करवाकर कर दिया जाएगा। निरीक्षण के समय दो भवनों में स्कूल संचालित हो रहे थे। बकायदा स्कूल संचालकों ने प्रचार-प्रसार के लिए बोर्ड एवं बैनर लगाकर रखे थे। नियमानुसार इन भवनों का व्यावसायिक उपयोग नहीं किया जा सकता है और ना ही किराएदार रख सकते हैं। उपायुक्त श्री शुक्ला ने मौके पर उपस्थित अधिकारी को भवनों का व्यावसायिक उपयोग होने पर तत्काल भवन आवंटन निरस्त करने के निर्देश दिए। आयुक्त विशालसिंह चौहान ने बताया कि प्रधानमंत्री आवास योजना के ये भवन जरूरतमंद गरीब हितग्राहियों के लिए हैं, जिन्हें स्वयं रहने के लिए आवंटित किए गए हैं, किंतु आवंटित हितग्राहियों द्वारा गलत उपयोग किया जा रहा है। इस पर तत्काल कार्रवाई के करने के निर्देश विभागीय अधिकारी पुनीत शुक्ला काे दिए।

Sneha
Royal Group
Back to top button

Adblock Detected

कृपया Adbloker बंद करें और क्रोम ब्राउजर मे ही ओपन करें